लाल किले पर खालसा झंडा फहराने पर सियासत शुरू, आरजेडी ने केन्द्र सरकार पर बोला हमला, बीजेपी ने की निंदा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : दिल्ली में किसानों के ट्रैक्टर परेड के बहाने लाल किले पर  हुडदंगियों द्वारा किए गए हरकत पर सियासत तेज हो गयी है. आरजेडी ने इस प्रकार की घटना की निंदा की है. पार्टी सांसद मनोज झा ने कहा कि आज जो लाल किले पर हुआ उसकी मैं घोर निंदा करता हूं, इस प्रकार के विरोध का समर्थन नहीं किया जा सकता है. इसकी जांच होनी चाहिए.

हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि आखिर देश के किसान यह सब करने पर क्यों आमदा हुए? इसपर भी विचार करना होगा. किसानों के आंदोलन को ऐसे बदनाम करने की साजिश रचकर दबाने की कोशिश करना अच्छी बात नहीं है. आज के तस्वीर के लिए केन्द्र सरकार दोषी है. मोदी सरकार अपनी हठधर्मिता छोड़ नहीं रही है. किसके लिए कानून बनाया जाता है, जिनके लिए कानून बनाया जा रहा है उन्हें इस कानून से तकलीफ है. इस बात को भी समझना होगा.



उधर बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने भी इस घटना की निंदा की है. उन्होंने कहा कि आज की घटना के पीछे निश्चित ही साजिश है. मासूम किसानों के कंधे का सहारा लेकर जिन लोगों ने इस प्रकार की नापाक हरकत की है, उसे इतिहास कभी माफ नहीं करेगा. आज के पवित्र दिन इस प्रकार की हरकत लाल किले पर करना कहीं से भी मुनासिब नहीं है. यह बात किसानों को भी समझना होगा.

बता दें कि दिल्ली में दाखिल हुए किसानों का बड़ा जत्था आज बेकाबू हो गया. देखते ही देखते तय रूट के बजाए आंदोलनकारी लाल किले की ओर मूड गए. लाल किले पर पहुंचकर आंदोलनकारियों ने सारी हदें पार कर दी. लाल किले की प्राचीर पर तिरंगा की जगह खालसा पंथ और किसान संगठन का झंड़ा फहरा दिया.