महंगा हुआ रसोई गैस सिलेंडर, बिना सब्सिडी वाला सस्ता

गैस सिलिंडर

लाइव सिटीज डेस्क : रसोई गैस में सब्सिडी एलपीजी सिलेंडर का इस्तेमाल थोड़ा महंगा हो गया है. एलपीजी सिलेंडर के साथ साथ केरोसीन के मूल्य में भी मामूली बढ़ोत्तरी की गई है.  सब्सिडी वाले घरेलू रसोई गैस सिलेंडर का दाम सोमवार को 1.87 रुपए प्रति सिलेंडर बढ़ा दिया गया. इसके अलावा राशन में बिकने वाला मिट्टी तेल 26 पैसे लीटर महंगा हुआ है. सरकार इन ईधनों पर सबसिडी खत्म करने की योजना पर आगे बढ़ रही है. 

वहीं बीते दिन पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ाने वाली सरकारी तेल कंपनियों ने बिना सब्सिडी वाले गैस सिलेंडर की कीमत 92 रुपये घटाने का एलान किया है. जबकि तेल कंपनियों ने विमान ईंधन (एटीएफ) की कीमत में कटौती की है. सोमवार को कंपनियों ने पेट्रोल मूल्य एक पैसे और डीजल के दाम 44 पैसे बढ़ाने की घोषणा की थी.

दिल्ली में 14.2 किलो वाले इस गैस सिलेंडर की कीमत 1.87 रुपये बढ़कर 442.77 रुपये पर पहुंच गई है. इससे पहले एक अप्रैल को तेल कंपनियों ने इसके दाम में 5.57 रुपये का इजाफा कर रुपए बढ़ाकर 440.90 रुपए प्रति (14.2 किलो) सिलेंडर किया था.  बता दें कि उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के दौरान फरवरी और मार्च में कीमतों में बदलाव नहीं किया गया था. इससे पहले लगातार आठ बार हर महीने सिलेंडर के दाम करीब दो रुपये बढ़ाए गए थे. 

दरअसल सरकार धीरे-धीरे कीमतों को बढ़ाते हुए ईंधन से सब्सिडी खत्म करना चाहती है.  इसीलिए सब्सिडी वाले गैस सिलेंडर की कीमत में हर माह करीब दो रुपये और केरोसीन में 25 पैसे की वृद्धि की जाती है. इसी वजह से केरोसीन के दाम भी प्रति लीटर 26 पैसे बढ़ाए गए हैं.

साल में सब्सिडी वाले 12 सिलेंडर ही मिलते हैं. इसके बाद बगैर सब्सिडी वाले गैस सिलेंडर लेने पड़ते हैं।.जिन लोगों ने सब्सिडी छोड़ दी है, उन्हें भी यही सिलेंडर लेना होता है.

बता दें कि तीनों तेल कंपनियों- इंडियन ऑयल, हिंदुस्तान पेट्रोलियम और भारत पेट्रोलियम ने एटीएफ की कीमत में 0.4 फीसद की कमी का एलान किया है.तेल कंपनियां कच्चे तेल के अंतरराष्ट्रीय मूल्यों के हिसाब से हर पखवाड़े पेट्रोल, डीजल और विमान ईंधन कीमतों की समीक्षा करती हैं.

यह भी पढ़ें-  अब मिस्ड कॉल से घर बैठे जानिए पेट्रोल-डीजल की नई दरें

पेट्रोल पंप वाले ही निकले चोर, टंकी भराने से पहले कर लें तहकीकात

अब मिस्ड कॉल से घर बैठे जानिए पेट्रोल-डीजल की नई दरें