दीक्षांत समारोह में बिहार की IPS बेटी तनुश्री के सवालों पर हंस पड़े प्रधानमंत्री मोदी, कहा- ड्यूटी की शुरुआत के साथ ही सिंघम न बनें

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : हैदराबाद में सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी के दीक्षांत समारोह को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संबोधित किया. दीक्षांत समारोह में बिहार की बेटी आईपीएस प्रोबेशनर्स तुनश्री ने भी पीएम मोदी से श्रीनगर में अपने कार्य अनुभव को साझा किया. साथ ही बेहतर पुलिसिंग के साथ समाज सेवा कैसे किया जाए इसको लेकर प्रधानमंत्री से मार्गदर्शन करने की अपील की.

तनुश्री के पढ़ाई क्षेत्र और पुलिस का जॉब दोनों विपरीत होने पर पीएम ने हंसते हुए कहा कि टेक्सटाइल्स और टेरर दोनों के बीच आप कैसे समन्वय बैठाएंगी. पीएम के इतना कहते ही मौजूद लोग चहक उठे. प्रधानमंत्री ने टेक्सटाइल और टेरर के बीच का अंतर समझाया.



पीएम ने कहा कि टेक्सटाइल में धागा जोड़ना होता है और टेरर में धागा खोलना होता है. दोनों अलग पहलू के काम हैं. प्रधानमंत्री ने फिल्म सिंघम का जिक्र करते हुए कहा कि ड्यूटी की शुरुआत के साथ ही सिंघम न बनें बल्कि अच्छी टीम के साथ सामान्य मानवीय के बीच प्रेम का सेतु जोड़ने का काम करें. अधिकारी शुरू के कार्यकाल में बेहद सतर्क रहें क्योंकि शुरू में जो उनकी छवि बनेगी वहीं उनके साथ ट्रैवल करेगी. इस दौरान प्रधानमंत्री उन्होंने ट्रेनिंग पूरी करने वाले 28 महिलाओं सहित 131 युवा आईपीएस अफसरों को तनावपूर्ण जीवन में भी खुश रहने के टिप्स दिए.

प्रधानमंत्री मोदी ने पुलिस अफसरों से कहा कि योग और प्राणायाम ऐसे सिद्ध विकल्प हैं, जिसके जरिए वे तनावपूर्ण जीवन में भी खुश रह सकते हैं. दीक्षांत समारोह में गृहमंत्री अमित शाह ने भी वीडियो कांफ्रेंसिंग से हिस्सा लिया.

दीक्षांत समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आईपीएस अफसरों से कुछ सवाल पूछने के लिए कहा तो तमिलनाडु की आईपीएस अफसर किरण श्रुति ने कार्य के दौरान तनाव की बात कही. इस पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि तनावपूर्ण जीवन जीने वालों को हमेशा आग्रह करता हूं कि वे योग, प्राणायाम करें. मन से करेंगे तो इसका बहुत लाभ मिलेगा . आपको तनाव कभी महसूस नहीं होगा और आप हमेशा प्रसन्न रहेंगे.