देश को पीएम नरेन्द्र मोदी ने किया संबोधित, कहा-अब नवंबर तक गरीबों को मिलेगा मुफ्त अनाज

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : कोरोना काल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश को 6ठी बार संबोधित किया. अपने संबोधन के दौरान पीएम ने कहा कि अनलॉक-1 में देश में लापरवाही बढ़ती जा रही है. ऐसा देखा जा रहा है कि लोग सजगता की जगह लापरवाही बरत रहे है

ऐसे लोगों से सख्ती से निपटने के लिए पीएम ने स्थानीय प्रशासन से अपील की. उन्होंने दूसरे देश के एक प्रधानमंत्री पर जुर्माना लगाने का जिक्र करते हुए कहा कि हमारे देश में भी नियम तोड़ने वाले से सख्ती करनी जरूरी है. स्थानीय प्रशासन को काफी चुस्ती से काम करना होगा. बिना सुरक्षा घर से बाहर निकले लोगों को रोककर उन्हें समझाना होगा.



पीएम ने अपने संबोधन के दौरान कहा कि लॉकडाउन के दौरान सभी के घरों में चूल्हा जले इसका केन्द्र और राज्य सरकार ने पूरा-पूरा ख्याल रखने का काम किया. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत पौने दो लाख करोड़ का पैकेज दिया गया. 9 करोड़ किसानों के खाते में 18 हजार करोड़ रूपए जमा कराए गए. गांवों में श्रमिकों को रोजगार देने के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना आरंभ कर दिया गया. जिसपर सरकार 50 हजार करोड़ रूपया खर्च कर रही है.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार करने की घोषणा करते हुए कहा कि इस योजना के तहत अब नवंबर तक 80 करोड़ गरीबों तक मुफ्त राशन मुहैया कराया जाएगा. देश के 80 करोड़ लोगों को इस योजना के तहत मुफ्त अनाज दी जाएगी.

जुलाई से लेकर नवंबर तक चलने वाली इस योजना के तहत प्रत्येक परिवार के हर सदस्य को पांच किलो गेहूं या पांच किलो चावल मुफ्त मुहैया कराया जाएगा. साथ ही प्रत्येक परिवार को हर महीनें एक किलो चना भी मुफ्त दिया जाएगा. पीएम नरेन्द्र मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के इस विस्तार में 90 हजार करोड़ से ज्यादा रूपए खर्च होंगे. पिछले तीन महीने की राशि को इसमें जोड़ दे तो यह राशि डेढ़ लाख करोड़ रूपया हो जाता है.

वहीं पूरे भारत के लिए एक राष्ट्र एक राशन कार्ड की व्यवस्था का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि केन्द्र सरकार इसपर बड़े ही तेजी से काम कर रही है. अगर आज देश के 80 करोड़ जरूरतमंद परिवार को मुफ्त अनाज मुहैया हो रहा है तो इसका श्रेय देश के दो वर्गो को जाता है. पहला किसान और दूसरा करदाता. दोनों के सहयोग से सरकार मुफ्त अनाज गरीबों तक पहुंचा पा रही है.

किसानों और करदाताओं को पीएम ने प्रशंसा करते हुए उनके सहयोग के लिए धन्यवाद दिया. साथ ही कहा कि गरीब, पीड़ित, वंचित और शोषित लोगों को सशक्त बनाने के लिए हमारी सरकार प्रयास करेगी. आत्मनिर्भर भारत के लिए दिनरात एक करेंगे. लोकल के लिए वोकल बनेंगे. हमसभी को एक साथ काम करना है.

संबोधन को समाप्त करते हुए पीएम ने देश के लोगों से सुरक्षित रहने की अपील की. साथ ही कहा कि जब भी घर से बाहर निकले मास्क पहने, जरूरी एहतियात बरते. ताकी आप सुरक्षित रह सके.