किसान बिल के विरोध में बिहार में राजनीतिक उबाल, पटना समेत विभिन्न जिलों में प्रदर्शनकारियों ने काटा बवाल

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : किसान बिल के विरोध में बिहार में भी राजनीतिक उबाल देखने को मिला. राजधानी पटना समेत विभिन्न जिलों में जगह-जगह पर किसान आंदोलन के समर्थन में लोगों ने खूब हंगामा किया. भाकपा माले, सीपीआई के साथ अन्य समर्थक दल सुबह से ही सड़क पर उतर गए. इसका बड़ा असर देखने को मिला. ट्रेन और बसों के साथ जनता से जुड़ी हर सुविधाओं को बाधित करने का प्रयास किया गया, जिससे पूरे प्रदेश में लोगों को काफी परेशानी हुई.

आरजेडी समेत कुल 22 दलों के विरोध प्रदर्शन सुबह से होने के कारण पटना में महाजाम लग गया. खुसरूपुर मोड़ से लेकर फतुहा तक लंबा जाम लग गया. विरोध कर रहे दलों ने कोई भी गाड़ी आगे नहीं बढ़ने दी. पटना में NH पर पहाड़ी से होते हुए गया रूट टोल प्लाजा तक लंबा जाम लग गया. यहां तक की पटना के NH-30 पर आरजेडी समर्थकों ने सब्जियां फेंक कर बवाल काटा. जिस कारण पूरा हाइवे जाम हो गया.



पटना में डाकबंगला चौराहा के आसपास बेली रोड पर लगे भाजपा और जदयू से जुड़े बैनर-पोस्टर फाड़े गए. पीएम मोदी और सीएम नीतीश कुमार की तस्वीरों वाले पोस्टरों को फाड़ते हुए प्रदर्शनकारी हंगामा कर रहे थे. इसी बीच जब पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो हंगामा कर रहे लोग मौके पर मौजूद सिटी मजिस्ट्रेट और पुलिस अधिकारियों से ही उलझ गए.

विरोध करने वालों ने सुबह सबसे पहले ट्रेनों को निशाना बनाया. दरभंगा के लहरियासराय स्टेशन पर सुबह कोलकाता-जयनगर गंगासागर एक्सप्रेस को रोक दिया गया, नारेबाजी की गई. इससे यात्रियों को काफी परेशानी हुई. भाकपा माले, सीपीआई के साथ आइसा व अन्य दलों ने एक साथ मिलकर ट्रेनों का परिचालन बाधित किया. नालंदा में भी सुबह से ही इसका असर देखने को मिला. बिहारशरीफ में बंद के समर्थन में माले कार्यकर्ता सुबह 6 बजे ही सड़क पर उतर गए और विरोध करने लगे.