बेशर्मी भी बेच दी है बिहार की नीतीश सरकार ने, कह रही हैं राबड़ी देवी

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार में चमकी बुखार से मौतों के बीच राज्य की नीतीश सरकार पूरी तरह से विपक्ष के निशाने पर है. बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी समेत विपक्ष के कई नेता लगातार नीतीश सरकार पर हमलावर हैं. पूर्व सीएम राबड़ी देवी ने ट्वीट कर एक बार फिर से सरकार की आलोचना की है.

राबड़ी देवी ने ट्वीट कर साधा निशाना

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने मासूमों की मौत को लेकर सरकार की आलोचना की है. उन्होंने ट्वीट के माध्यम से लिखा कि “बिहार के सरकारी अस्पतालों की दयनीय स्थिति है. स्वास्थ्य विभाग अस्वस्थ है. मंत्री मस्त हैं. भवन जर्जर हैं. उपकरण खराब हैं. दवा खरीद में घोटाला है. भ्रष्टाचार चरम पर है. स्वास्थ्य मंत्री निजी हॉस्पीटल का विज्ञापन कर रहे हैं. इन लोगों ने तो बेशर्मी को भी बेच दिया है.”

विपक्ष बरसा रहा आलोचनाओं के तीर

बता दें कि बिहार की नीतीश सरकार चमकी बुखार से बच्चों की लगातार मौत को लेकर चौतरफा घिर गई है. हालांकि केंद्र और राज्य सरकार के मंत्रियों और नेताओं ने मुजफ्फरपुर का दौरा किया लेकिन बच्चों को बचाने का उपाय नहीं निकल सका. सीएम नीतीश कुमार के मुजफ्फरपुर दौरे के बाद तो मुख्य सचिव दीपक  कुमार ने कहा था कि सरकार अस्पताल के इलाज से संतुष्ट है. वहीं मामले में नीतीश सरकार के खिलाफ विपक्ष लगातार आलोचनाओं के तीर बरसा रहा है.

सुप्रीम कोर्ट ने भी लगाई लताड़

बिहार में चमकी बुखार के कारण बच्चों की मौत पर विपक्ष के बाद सुप्रीम कोर्ट ने भी नीतीश सरकार को लताड़ लगाई है. सुप्रीम कोर्ट ने मामले में दर्ज दो याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए राज्य सरकार को नोटिस जारी किया है. कोर्ट ने कहा कि सरकार सात दिनों को भीतर जवाब दे कि बच्चों की मौत के पीछे क्या कारण है. AES से मासूम बच्चों की मौत को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने चिंता जाहिर करते हुए तीन मुद्दों पर जवाब मांगा है जिनमें स्वास्थ्य सेवाओं की पर्याप्तता, पोषण और साफ सफाई शामिल है. सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में केंद्र सरकार और यूपी की योगी सरकार को भी नोटिस जारी किया है. बता दें कि अबतक एईस यानि चमकी बुखार से 170 बच्चों की मौत हो चुकी है और केंद्र और राज्य सरकार इस पर मौन है.

इससे पहले राबड़ी देवी ने कई ट्वीट कर सरकार को चमकी बुखार से बच्चों की मौत मामले पर घेरा था. उन्होंने अपने ट्वीट में कहा था कि बिहार का स्वास्थ्य विभाग खुद ICU में हैं. वहीं पटना हाईकोर्ट ने भी बिहार में बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं के लिए राज्य सरकार को जिम्मेवार बताया है. बिहार में स्वास्थ्य सेवाओं की बदहाली को लेकर पटना हाईकोर्ट में जस्टिस ज्योति शरण की खंडपीठ ने सुनवाई की.सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने कहा कि बिहार में ऐसी स्थिति के लिए राज्य सरकार जिम्मेवार है.

चमकी इफेक्टः अश्विनी चौबे का बिना घूंघट क्या हाल हो रहा है, बताया राबड़ी देवी ने

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*