तेजस्वी नहीं तो राबड़ी ने खोला मोर्चा, ट्वीट कर सरकार पर उठाए कई गंभीर सवाल

file pic

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार के पूर्व सीएम व राजद सुप्रीमो के पत्नी राबड़ी देवी ने सरकार पर निशाना साधा है. राबड़ी देवी ने मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से हुए बच्चों की मौत को लेकर सरकार पर सवाल उठायीं है. राबड़ी देवी ने कहा कि नीतीश सरकार इस मामले पर मौन धारण की हुई है. राबड़ी देवी ने ट्वीट के जरिए बिहार और केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला है. पूर्व सीएम ने एक के बाद पांच ट्वीट की हैं.

पूर्व सीएम ने कहा कि बिहार में एनडीए 14 साल से राज कर रही है. AES से हर साल हजारों बच्चे मरते हैं. उन्होंने कहा कि बिहार सरकार रोकथाम का कोई उपाय नहीं की है, और टीकाकरण भी नहीं की है. राबड़ी देवी ने कहा कि बिहार का स्वास्थ्य विभाग खुद ICU में है. उन्होंने बिहार सरकार पर कई गंभीर आरोप लगायीं है.

राबड़ी देवी ने कहा कि मुख्यमंत्री जी सदा की तरह मौन है. मुज़फ़्फ़रपुर में 40 बच्चियों के साथ सत्ता संरक्षण में जनबलात्कार किया गया तब भी मौन थे. मुज़फ़्फ़रपुर में ही भाजपाई नेता द्वारा 30 मासूमों को कार से कुचला तब भी मौन और हर वर्ष की भाँति फिर हज़ारों बच्चों की चमकी बुखार से मौत पर भी चुप.

उन्होंने कहा कि केंद्र और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री कुतर्क गढ़ रहे है. एक कहता है मैं मंत्री हूँ, डॉक्टर नहीं. मरते बच्चे क़िस्मत का खेल है. और फिर उसी क़िस्मत को लात मार बिस्कुट खाते बेशर्मी से मैच का स्कोर पूछता है. एक प्रेस मीटिंग में ही सो रहे है. लिची को दोषी बताते है. भगवान की आपदा बताते है.

बिहार में डबल इंजन की सरकार है. इतनी मौतों के बाद अब केंद्र और प्रदेश के मंत्री क्या नृत्य करने चार्टर फ़्लाइट्स से मुज़फ़्फ़रपुर जा रहे है? जब अस्पताल के दवाखानों में दवा की जगह कफ़न रखे है, डॉक्टर नहीं है तो क्यों नहीं बीमार बच्चों को Air-Ambulance से दिल्ली ले जाते?

14 बरस से ई लोग बिहार में राज कर रहा है. हर साल बीमारी से हज़ारों बच्चे मरते है लेकिन बताते सैंकड़ों है. फिर भी रोकथाम का कोई उपाय नहीं, समुचित टीकाकरण नहीं. दवा और इलाज का सारा बजट ईमानदार सुशासनी घोटालों की भेंट चढ़ जाता है. बिहार का बीमार स्वास्थ्य विभाग ख़ुद ICU में है.

एनडीए सरकार की घोर लापरवाही, कुव्यवस्था सीएम की महामारी को लेकर अनुत्तरदायी, असंवेदनशील और अमानवीय अप्रोच, लचर व भ्रष्ट व्यवस्था, स्वास्थ्य मंत्री के ग़ैर-ज़िम्मेदाराना व्यवहार एवं भ्रष्ट आचरण के कारण ग़रीबों के 1000 से ज़्यादा मासूम बच्चों की चमकी बुखार के बहाने हत्या की गई है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*