5 सूत्री मांग को लेकर रविवार को जाप निकालेगी “लोक न्याय मार्च”- राघवेंद्र सिंह कुशवाहा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: जनता की प्रमुख समस्याओं के समाधान के लिए 5 सूत्री मांगों के साथ जन अधिकार पार्टी (लो)आगामी 13 जून को बिहार के सभी जिला मुख्यालयों पर “लोक न्याय मार्च“निकालेगी. इसकी जानकारी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राघवेंद्र सिंह कुशवाहा ने दी. उन्होंने  कहा कि कोरोना के कारण पिछले 18 माह से स्कूल-कॉलेजों के बंद होने के बावजूद छात्रों से शुल्क लिया जा रहा है. निजी स्कूल व कोचिंग की मनमानी तो और चरम पर है. पार्टी की स्पष्ट मांग है कि पढ़ाई नहीं तो शुल्क नहीं. पार्टी ने सरकार से सभी निजी स्कूल और कोचिंग को अभिभावकों से शुल्क नहीं लेने का निर्देश देने की मांग की है.

पार्टी में इस न्याय मार्च में सरकारी अस्पतालों को दुरुस्त करने तथा निजी अस्पतालों की मनमानी रोकने हेतु सख्त होने की मांग की है. किसानों की बदहाल स्थिति सुधारने के लिए मनरेगा को कृषि कार्य से जोड़ने की बात दोहराई गई है. करोड़ों छात्र और नौजवानों के बेरोजगारी को दूर करने के लिए सरकार या तो उन्हें सरकारी नौकरी दे या उन्हें स्वनियोजित होने के लिए पर्याप्त ऋण दे. ऐसा नहीं होने की स्थिति में सभी बेरोजगारों को ₹5000 प्रति माह बेरोजगारी भत्ता देना सुनिश्चित करें. इन मांगों के साथ-साथ पार्टी अपने नेता राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव की रिहाई भी चाहती है.

कुशवाहा ने कहा कि इन्हीं पांच मांगों के साथ जन अधिकार पार्टी के कार्यकर्ता 13 जून रविवार को बिहार के सभी जिला मुख्यालयों पर हजारों की संख्या में “लोक न्याय मार्च के माध्यम से अपना प्रदर्शन करेंगे. यह सारे मांग आम जनता के हित से जुड़ा हुआ है इसलिए उन्होंने इस मार्च में आम लोगों को अधिक से अधिक संख्या में भाग लेने का आह्वान किया है.