शिमला में ‘प्रेसिडेंट रिट्रीट’ घूमने की नहीं मिली थी एंट्री, अब हैं राष्ट्रपति उम्मीदवार

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद जैसे ही राष्ट्रपति उम्मीदवार के तौर पर चुने गए पूरे देश में चर्चा फ़ैल गई. रामनाथ कोविंद को खूब बधाइयाँ मिलने लगी. लोग सोशल मीडिया पर उन्हें सर्च करने लगे. ढेर सारी जानकारियां भी उनके बारे में मिली. एक ऐसी ही रोचक जानकारी उनके शिमला ट्रिप के दौरान हुए वाकये से जुड़ी मिली. 

आपको बता दें कि करीब एक महीना पहले रामनाथ कोविंद को शिमला में बने प्रेसिडेंट रिट्रीट के बाहर से ही वापस लौटना पड़ा था. दरअसल, 28 मई से लेकर 30 मई तक रामनाथ कोविंद हिमाचल प्रदेश में घूमने के लिए गए हुए थे. हिमाचल प्रदेश में रामनाथ राज्यपाल आचार्य देवरत के मेहमान बनकर ठहरे. अपनी इसी यात्रा के दौरान रामनाथ कोविंद प्रेसिडेंट रिट्रीट देखने के लिए पहुंचे, लेकिन इसके अंदर एंट्री नहीं मिलने के कारण उन्हें गेट से ही वापस लौटना पड़ा. 

हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल के सलाहकार शशि कांत शर्मा ने बताया है, ”उन्हें प्रेसिडेंट रिट्रीट देखने की अनुमति नहीं मिली थी, लेकिन उन्हें इस बात का बिल्कुल भी बुरा नहीं लगा.” साथ ही उन्होंने कहा कि अगर उन्होंने हमें प्रेसिडेंट रिट्रीट देखने की इच्छा के बारे में बताया होता तो हम उनके लिए यह व्यवस्था जरूर करवाते.

आपको बता दें कि शिमला के प्रेसिडेंट राष्ट्रपति रिट्रीट में राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी हर साल गर्मियों की छुट्टियां मनाने जाते हैं. इस दौरान राष्ट्रपति कार्यलय के सभी कामकाज वहीं से होते हैं. लेकिन इस बार राष्ट्रपति चुनाव के चलते प्रणव मुखर्जी वहां नहीं गए.

मालूम हो कि शिमला का प्रेसिडेंट रिट्रीट भारत के राष्ट्रपति का आधिकारिक रिट्रीट है.

प्रेसिडेंट रिट्रीट में जाने के लिए राष्ट्रपति भवन की अनुमति होना अनिवार्य है.