‘रउवा लोगन के हमार प्रणाम’, बगहा में जैसे ही पीएम नरेन्द्र मोदी ने यह कहा, होने लगी भारत माता की जय जयकार

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: दूसरे चरण के चुनाव प्रचार के आखिरी दिन एनडीए ने पूरी ताकत झोंक दी है. खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चार-चार रैलियां कर दूसरे चरण के वोटरों से एनडीए प्रत्याशी को जिताने की अपील की. अपने भाषण की शुरूआत में नरेन्द्र मोदी ने कहा कि – रउवा लोगन के हमार प्रणाम, यहां के लोगों के मीठा बोली उनका स्वभाव बा. इ पवित्र धरती को प्रणाम बा.

वहीं मंच से भारी भीड़ को आगे आने से रोकते हुए नरेन्द्र मोदी ने जनता को अपनी जगह पर ही खड़े रहने का आग्रह किया. जनसभा को संबोधित करते हुए नरेन्द्र मोदी वाल्मिकिनगर लोकसभा उपचुनाव और विधानसभा चुनाव के प्रत्याशियों को लोगों से जिताने की अपील की. चंपारण की धरती को प्रणाम करते हुए उन्होंने कहा कि चंपारण को एक बार फिर वहीं संकल्प लेना है, जिससे आजादी की प्रेरणा दी थी. आत्मनिर्भर बिहार, आत्मनिर्भर भारत के विकास में जो लोग रोड़ा बन रहे हैं, उन्हे सबक सिखाया जाए.



थारू समाज के विकास के लिए पुरानी सरकार ने कोई ध्यान नहीं दिया. अटल जी की सरकार में थारू समाज को जनजाति समाज का दर्जा दिया था. जनजाति समाज के आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए कई काम किए गए. आदिवासी समाज के विकास के लिए म्यूजियम से लेकर हर प्रकार के प्रयासों का सिलसिला चल रहा है. यहां की थारू जनजाति, आदिवासी भाई बहन के विकास के लिए काम किया जा रहा है.

विपक्षियों पर हमला बोलते हुए नरेन्द्र मोदी ने कहा कि राष्ट्रहित और जनहित के लिए उठाए गए हर कदम का विरोध करना उनकी रणनीति बन गयी है. भय और भ्रम का माहौल बनाने का काम ये लोग करते हैं. इन लोगों ने भ्रम फैलाया. एनडीए एससी, एसटी आरक्षण को खत्म कर देगी. लेकिन यही एनडीए सरकार ने 10 साल के लिए आरक्षण को बढ़ाने का काम किया. सवर्ण वर्ग के गरीबों के लिए हम लोगों ने 10 प्रतिशत का आरक्षण दिया. लेकिन विरोधी इसका भी विरोध करते रहे.

सबका साथ सबका विश्वास और सबका विकास हमारा ध्येय है. धारा 370 हटाने की बात कही गयी तो ये लोग खून की नदियां बहाने की धमकी दे रहे थे. लेकिन हम लोगों ने बिना खून बहाए धारा 370 को कानूनी रूप से हटा दिया. जम्मू कश्मीर और लद्दाख आज शांति से जी रहा है. वहां के कुछ परिवारों ने गरीबों की हकमारी की है, उसको भी हम लोगों छोड़ने वाले नहीं है.

एनआरसी कानून का इनलोगों ने विरोध किया. कानून बने एक साल हो गए लेकिन क्या किसी भी भारतीय की नागरिकता चली गयी? आज बिहार के सामने एक पक्ष हैं जंगलराज का, जिसमें बिहार में हजारो करोड़ों रूपए के घोटाले किए. दूसरा पक्ष एनडीए का हैं जिसने बिहार को विकास के पथ पर ला दिया. जंगलराज ने बिहार को बर्बाद करने का काम किया, एनडीए बिहार को आबाद करने का काम किया. जंगलराज में गरीबों के पैसों का घोटाला किया गया, एनडीए ने गरीबों के खाते में सीधा पैसा देने का काम किया.

जंगलराज अंधेरा लाना चाहता है, ताकि लालटने फिर जले. लेकिन एनडीए गांव तक एलईडी लगाकर दूधिया रोशनी फैलाने का काम किया. उनके काल में तीन मेडिकल कॉलेज था. लेकिन एनडीए शासनकाल में बिहार के हर जिले में मेडिकल कॉलेज खोलने का काम किया गया. नई सरकार बनने के बाद मातृ भाषा में मेडिकल कॉलेज, इंजीनियरिंग कॉलेज खोला जाएगा. बिना अंग्रेजी जाने अब मेडिकल, इंजीनियर बन सकते हैं. जंगलराज के वो दिन बिहार के लोग भूल नहीं सकते. बिहार के 35-40 साल के व्यक्ति अपने नौजवान बच्चों को उस समय की याद दिलाइए, क्या बिहार में वो दिन दोबारा आना चाहिए.

उस समय मेहनत के पैसे से खरीदी गयी गाड़ी को वो लोग अपना बना लेते थे. शो-रूम में खड़ी गाड़ी में पेंट लगाकर उसे पुराना बनाया जाता था. ताकि ये लोग उसे लूट ना ले, क्यों कि नई गाड़ियों को लूट लिया जाता था. रंगदारी की शिकायत करने वालों को डबल रंगदारी देनी पड़ती थी. लोग अपने घरों को सामने से सजाते नहीं थे, बड़े घर बनाने से डरते थे.

जंगलराज वालों से सावधान रहना है, जंगलराज के युवराज से सतर्क रहना है. गरीब के दुख को इन लोगों ने कभी समझा ही नहीं. रेवड़ी,ठेले पर काम करने वालों को इन लोगों ने अपने हाल पर छोड़ दिया था. हम लोगों ने इन छोटे व्यवसायियों को बैंकों से जोड़ा है. बिहार में बहुत जल्द स्वामित्व कार्ड लागू किया जाएगा. देश के 6 राज्यों में स्वामित्व कार्ड लागू हो गया है.

नरेन्द्र मोदी ने लोगों से कहा कि जंगलराज के इन ताकतों को जरा भी मौका नहीं देना है. बिहार के फिर नीतीश कुमार के नेतृत्व में सरकार बनाने का मन बना लिया है. एनडीए यानी बीजेपी, जेडीयू, हम और वीआईपी पार्टी के प्रत्याशियों को जीताना है. पहले मतदान फिर जलपान करना जरूरी है. पहले चरण के मतदान के लिए वोटरों को धन्यवाद देते हुए नरेन्द्र मोदी ने कहा कि पहले चरण के मतदाता ने तमाम कयासों को तोड़कर भरपूर वोट किया. पहले चरण के रूझान एनडीए के पक्ष में है.