पद्मावत की परीक्षा आज, बिहार में गृह विभाग ने जारी किया अलर्ट, डरे हुए हैं सिनेमाघर वाले

लाइव सिटीज डेस्क : सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद फिल्म “पद्मावत” 25 जनवरी को रिलीज हो रही है. लेकिन देशभर में हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है. अगर बिहार की बात करें तो यहां भी हिंसा की खूब ख़बरें रिलीज से पहले से ही आ रही हैं. ऐसे हालात में फिल्म को रिलीज करने से सिनेमाघर वालों के पसीने तो छूट ही रहे हैं. वहीँ राज्य सरकार और प्रशासन के लिए भी इस फिल्म को सफलतापूर्वक चुनौती भरा है. किसी भी आशंका और अनहोनी को देखते हुए गृह विभाग ने अलर्ट जारी कर दिया है.
सभी जिले के डीएम और एसपी को चौकस रहने का निर्देश दिया गया है. वहीँ सभी सिनेमाघरों में सुरक्षा भी टाइट कर दी गई है. कई सिनेमाघरों के संचालकों ने हिंसा होने के डर से फिल्म पद्मावत को दिखाने से ही इंकार कर दिया है.

वहीं करणी सेना के हिंसात्मक हरकतों से घबराकर मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश और गोवा में फिल्म नहीं दिखाने का फैसला किया है. यह एसोसिएशन देश की 75 फीसद मल्टीप्लेक्स मालिकों का प्रतिनिधित्व करता है.

इस बीच, राजपूत करणी सेना ने किसी भी कीमत पर फिल्म का प्रदर्शन नहीं होने देने और सिनेमाघरों में “जनता कर्फ्यू”” लगाने का फिर एलान किया है. गौरतलब है कि राजपूत और कई अन्य संगठन संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत की रिलीज रोकने की मांग कर रहे हैं.

राजपूत करणी सेना के प्रमुख लोकेंद्र सिंह कालवी ने हिंसा के लिए पद्मावत के निर्माता संजय लीला भंसाली को जिम्मेदार बताया है। उन्होंने हिंसा के लिए खेद जताते हुए कहा कि यह सब रानी पद्मावती के लिए है, जिन्होंने आत्मसम्मान की रक्षा के लिए 16 हजार रानियों के साथ जौहर किया था.

उन्होंने फिर कहा कि गुरुवार को जिन सिनेमाघरों में इस फिल्म का प्रदर्शन होगा, वहां “जनता कर्फ्यू”” लगेगा, ताकि इसका प्रदर्शन न हो. हमें भले गिरफ्तार कर लें और गोलियां चलाएं, लेकिन इससे हम रुकेंगे नहीं.

About Ranjeet Jha 2694 Articles
I am Ranjeet Jha (पत्रकार)

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*