भोजपुर के लाल ऋषि ने कुपवाड़ा में मार गिराये दो आतंकी

लाइव सिटीज डेस्कः जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा आतंकी अटैक में गुरुवार को सेना के एक कैप्टन और दो जवानों ने अपनी शहादत दे दी. जवाबी फायरिंग में सेना ने भी दो आतंकियों को मार गिराया. बिहार के भोजपुर के ऋषि कुमार ने इस कार्रवाई में क्विक रिएक्शन का परिचय देते हुए दो आतंकियों को मार गिराया. इस दौरान वो खुद भी गंभीर रूप से जख्मी हो गए. आतंकियों से लोहा लेते समय उनकी गोलियां खत्म हो गईं… फिर वो डटे रहे.

कुपवाड़ा में नायक के पद पर हैं ऋषि

हमले के वक्त गनर ऋषि कुमार संतरी ड्यूटी पर थे. उन्होंने देखा कि आतंकी उनकी ओर आ रहे हैं. उन्होंने सबको नजदीक आने दिया. फिर फायरिंग शुरू की. तभी एक गोली ऋषि के सिर पर लगी. उन्होंने बुलेट प्रूफ हेलमेट पहना था. इसलिए जख्मी नहीं हुए. पर नीचे गिर पड़े. फौरन उठे और दो आतंकियों को मार गिराया.

इस बीच उनकी गोलियां खत्म हो गईं. फिर बंकर से बाहर आए और मारे गए आतंकी का हथियार उठाकर तीसरे आतंकी की ओर लपके. लेकिन तब तक आतंकी की गोली ऋषि के पैर में आ लगी. इस बीच आतंकी भाग निकला.

बता दें कि शहीदों में यूके के कैप्टन आयुष यादव, राजस्थान के सूबेदार भूपसिंह और आंध्रप्रदेश के वेंकट रमन्ना शामिल हैं. जबकि 6 जवान घायल हैं, जिन्हें एयरलिफ्ट कर आर्मी बेस हॉस्पिटल पहुंचाया गया. यह हमला उड़ी हमले के करीब 8 महीने बाद हुआ है और उसी तर्ज पर हुआ है.

गुरुवार तड़के 4.30 बजे के आसपास आतंकी फायरिंग रेज से होते हुए पिछले गेट से सेना के पंजगाम कैंप में घुसे थे. माना जा रहा है कि आतंकी नियंत्रण रेखा की बाड़ काटकर भारतीय सीमा में दाखिल हुए थे. पिछले साल सितंबर में उड़ी में कैंप पर हुए हमले में 20 जवान शहीद हो गए थे. तब भी आतंकी सरहद पार से आए थे और तड़के कैंप पर हमला किया था.

यह भी पढ़ें-

जम्मू कश्मीर में फिर आतंकी हमला, 3 जवान शहीद, 2 आतंकी ढेर

RJD ने सुमो से पूछाः बताएं डिप्टी CM बनने के लिए दिए थे कितने करोड़