बिहार पुलिस की निगरानी में है रिया चक्रवर्ती, एटीएम की तरह कर रही थी सुशांत का इस्तेमाल

लाइव सिटीज, पटना/अमित जायसवाल : रिया चक्रवर्ती बिहार पुलिस की निगरानी में है. वो कहीं फरार नहीं हुई है. इस बात को कन्फर्म किया है मुंबई में मौजूद बिहार पुलिस की टीम ने. जो लगातार अपने इन्वेस्टिगेशन में आगे बढ़ रही है. नए और ठोस सबूत जुटा रही है. अब तक की जांच और मिले सबूतों से तो एक बात स्पष्ट हो गई है कि रिया चक्रवर्ती एक्टर सुशांत सिंह राजपूत को एटीएम समझ रही थी. भाई शोविक चक्रवर्ती और मां संध्या चक्रवर्ती भी सुशांत के रुपयों पर जमकर ऐश कर रहे थे.

प्लेन का किराया से लेकर होटल के बिल और शॉपिंग तक का पेमेंट सुशांत के अकाउंट से हुआ है. इस बात के ठोस और पुख्ता सबूत बिहार पुलिस की टीम को बैंक से मिले हैं. सिर्फ 90 दिनों में 3 करोड़ से अधिक का खर्च किया गया है. सूत्र बता रहे हैं कि शुक्रवार की शाम जब बिहार पुलिस की टीम सुशांत के उस घर में गई, जहां उनकी मौत हुई थी. वहां से भी कुछ अहम सुराग उनके हाथ लगी है. संभावना अब यह है कि जल्द ही इस मामले में बिहार पुलिस की टीम रिया चक्रवर्ती के साथ पूछताछ कर सकती है.



दिशा सालियानी के मौत की मांगी जानकारी

बड़ी और अहम बात यह है कि बिहार पुलिस की टीम सुशांत की एक्स मैनेजर दिशा सालियानी के बारे में जानकारी हासिल कर रही है. दिशा सालियानी ने किन हालातों में सुसाइड किया? इसकी पड़ताल की जा रही है. सूत्र बता रहे हैं कि बिहार पुलिस की टीम यह जानने की कोशिश कर रही है कि क्या दिशा और सुशांत के मौत के बीच किसी प्रकार का कोई कनेक्शन है? इस मामले में मुंबई पुलिस से जानकारी हासिल की जा रही है. दूसरी बड़ी बात यह है कि शनिवार को बिहार पुलिस की टीम फ़िल्म प्रोड्यूसर रूमी जाफरी के घर उनसे पूछताछ करने पहुंची है.

पहली बार बोले डीजीपी

सुशांत मामले पर मुंबई में चल रही बिहार पुलिस की जांच पर शनिवार को पहली बार डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय मीडिया से मुखातिब हुए. उन्होंने माना कि अब तक इन्वेस्टिगेशन में मुंबई पुलिस ने प्रोपर तरीके से हमारी टीम की मदद नहीं की. लेकिन अब अंधेरी के डीसीपी से बात हो गई है. टीम ने कल ही मुलाकात की थी. उम्मीद करते हैं कि अब बिहार पुलिस की टीम को मुंबई में जरूरी सहयोग मिलेगा. उनकी सुरक्षा की व्यवस्था की जाएगी. पटना के सीनियर एसपी उपेन्द्र कुमार शर्मा लगातार अपनी टीम के कांटेक्ट में हैं. जरूरत पड़ी तो बिहार से सीनियर पुलिस अधिकारी को भेजा जा सकता है.

अब तक 5 लोगों का दर्ज हो चुका है बयान

डीजीपी ने बताया कि अब तक सुशांत के दोस्त, महेश सेठी, पुराने कुक अशोक, बहन मीतू सिंह, एक्स गर्ल फ्रेंड अंकिता लोखंडे, इलाज करने वाले डॉ क्रेसी चावड़ा, और रिया के लाये गए कुक नीरज का बयान दर्ज हो चुका है. बैंक से संबंधित अधिकारियों से पूछताछ हो गई है. आज भी कई लोगों से पूछताछ हो रही है. डीजीपी ने स्पष्ट किया कि इस मामले में पूरी तरह से निष्पक्ष जांच होगी और सुशांत के पिता को इंसाफ बिहार पुलिस दिलाकर रहेगी.

सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतेजार

बिहार के डीजीपी ने कहा कि मुंबई पुलिस से एफएसएल की रिपोर्ट, पोस्टमार्टम रिपोर्ट, घटना स्थल से बरामद चीजें, उस समय मुंबई पुलिस की तरफ से की गई वीडियोग्राफी, सीसीटीवी फुटेज, संबंधित डाक्यूमेंट्स, अब तक जिन लोगों को पूछताछ किया गया है. ये सब उपलब्ध कराने को कहा गया है. जिससे कि इन्वेस्टिगेशन में सहयोग मिल सके. हालांकि मुंबई पुलिस ने स्पष्ट किया है कि मामला सुप्रीम कोर्ट में है, इसलिए वो फैसले का इंतेजार कर रही है.