RJD ने सुमो से पूछाः बताएं डिप्टी CM बनने के लिए दिए थे कितने करोड़…

लाइव सिटीज डेस्क/पटना (नियाज आलम) : सुमो के लालू परिवार पर लगाए गए आरोपों का आरजेडी प्रवक्ता मनोज झा ने जवाब दिया है. उन्होंने कहा है कि सुशील मोदी की प्रेस वार्ता इस बात का दस्तावेजी सबूत है कि जब किसी व्यक्ति का राजनितिक चिंतन दिवालियेपन की हदें पार कर जाए तो सार्वजनिक रूप से उपलब्ध सूचनाओं में भी वह फरेब ढूंढने की असफल कोशिश करता है.

अपने दल में तमाम राजनितिक हैसियत खो चुके मोदी एक बार फिर से झूठ और अफवाह को ढाल बनाकर 2018 में विधानपार्षद की सदस्यता येन केन प्रकारेण हासिल करना चाहते हैं. पूरा बिहार जानता है कि आशियाना होम्स लिमिटेड और आशियाना लैंडक्राफ्ट रियलटी लिमिटेड के खोखा कंपनियों के बारे में हमने विस्तार से बातें रखते हुए यह कहा था कि सम्बद्ध एजेंसी से एक निष्पक्ष जांच की ज़द में सुशील मोदी स्वाभाविक रूप से आ जायेंगे. हजारों करोड़ों रूपये की मनी लॉंड्रिंग की हमने सिर्फ दो शुरूआती मिसाल दी थी लेकिन मोदी उस पर आपराधिक चुप्पी साधे बैंठे हैं.

उन्होंने कहा कि दोनों ही कंपनियों और इनकी मकड़जाल की करतूतें कोलकाता की तंग गली के एक खास पते से चलती है और इस पते का सुशील मोदी को पूरा पता है. हम फिर से डंके की चोट पर कहते हैं कि सुशील मोदी की राजनीति का उठान और इन कंपनियों के बढ़ते कारोबार के बीच सीधा और नैसर्गिक रिश्ता है.

मनोज झा ने कहा कि एवजी राजनीति का संभवतः सुशील मोदी से पुराना रिश्ता है इसलिए स्वाभाविक और सार्वजनिक जानकारियों में अपनी राजनीति की तरह ‘एवज़’ के तत्व सूंघने की कोशिश कर रहे हैं. आपकी पूरी कोशिश होती है कि दलित-पिछड़ा नेतृत्व की छवि पर चोट की जाए.

जिस व्यक्ति को बार बार कहना पड़े कि वो फुल टाइम राजनीति करते है,  इससे चोर की दाढ़ी में तिनका वाली बात चरितार्थ होती है. इसी से यह भी ज़ाहिर होता है उनके बाकी कारोबार किसी बड़े शहर की छोटी गलियों से चलते हैं. आप उप मुख्यमंत्री बने थे तब आपने लाल कृष्ण आडवाणी को कितने करोड़ रूपए दिए थे? जैसा की आपकी पूरी पार्टी मानती है कि आप बिहार में बीजेपी की हार के सबसे बड़े खलनायक है, क्योंकि आपने टिकट बीजेपी कार्यकर्ताओं को नहीं बल्कि भारी भरकम थैली सौपने वालों को थमा दी.

यह भी पढ़ें-

सुमो अटैकः प्रॉपर्टी लेकर लालू प्रसाद ने बनाये मंत्री

बिहार प्रदेश NSUI के नए प्रेसिडेंट बने छपरा के शशि कुमार