राजद का पलटवार, कहा- सुमो को कोई सलाह भी दान में नहीं देता

manoj jha 12

पटना (नियाज़ आलम) : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की बेटी हेमा यादव पर भाजपा नेता सुशील मोदी के हमले पर राजद ने कड़ा रुख अपनाया है. पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा ने मोर्चा संभालते हुए कहा है कि भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी की प्रेस कांफ्रेंस ने एक बार पुनः यह स्थापित कर दिया है कि फरेब और झूठ की कल्पनाशीलता के आधार पर आप लोक विमर्श को कलुषित करने के अलावा कुछ नहीं कर पा रहे हैं. कोई भी दान चाहे किसी को भी दिया जाए उसकी एक न्याय सम्मत प्रक्रिया होती है और उसका निर्वहन किया जाता है और इस मामले में भी किया गया है.

उन्होंने कहा है कि सुशील मोदी अपने पाखंड और फरेब की राजनीति के आधार पर दुष्प्रचार की राजनीति से बाज़ आने की बजाय धमकी की भाषा का इस्तेमाल करने लगे है. क्या कानून के निजाम का मतलब यह है कि सुशील मोदी के मुख से निकला झूठ कानून के ऊपर है. क्या उन्हें इस बात की पीड़ा है कि कोई उन्हें एक बेहतर सलाह भी दान के रुप में क्यों नहीं देता.

इस पीड़ा की पड़ताल के लिए उन्हें अपनी नकारात्मक राजनीति के लंबे इतिहास का छोटा विश्लेषण करना होगा. बीते महीने हमने सुशील मोदी के भाई की कंपनियों में बेनामी लेनदेन के कुछ साक्ष्य पब्लिक डोमेन में रखे थे और हमारे सवालों पर उनकी चुप्पी काफी शोर मचा रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सुशील मोदी के भाई और उनके सहयोगियों की खोखा कंपनियों की जांच की मांग पर हमारा साथ दें.

वो यह  लिखकर शपथ पत्र दें कि राजनीति से रिटायर होने के बाद भी वह और उनके परिवार का कोई भी सदस्य किसी पारिवारिक अथवा बाहरी व्यक्ति से किसी भी प्रकार का दान नहीं लेंगे. हम जानते है कि आशियाना होम्स में जो बेनामी पैसा लगा है वो सब इस वक्त ब्लड रिलेशन  के नाम पर कब आप के नाम आ जाये पता नहीं. अगर हिम्मत है तो हमारे द्वारा पूछे प्रश्नों का ईमानदारी से जवाब दें.
और हां उन्हें ‘surrogacy’ जैसे शब्दों के इस्तेमाल से पहले थोड़ी जानकारी प्राप्त कर लेनी चाहिए. बता दें कि हेमा यादव को संपत्ति दान देने का आरोप लगते हुए सुमो ने दानकर्ता को लालू परिवार का ‘surrogate’ बताया था.

यह भी पढ़ें-  लालू की बेटी हेमा को रेलवे के खलासी ने भी दान कर दी 70 लाख की जमीन