रघुवंश प्रसाद सिंह ने पहले सीएम नीतीश को जन्मदिन की बधाई दी, फिर दे डाला बड़ा बयान

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार की राजनीति में अचानक से हुई उठापटक के बाद सियासत काफी गरम हो चली है. बुधवार को बिहार के पूर्व सीएम जीतनराम मांझी NDA छोड़ कर महागठबंधन में चले गए तो वहीं बिहार के पूर्व शिक्षा मंत्री व पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चौधरी जदयू में चले आये. जिसके बाद से राजनीतिक दलों से ताबड़तोड़ रिएक्शन आने लगे. इसी बीच आज 1 मार्च को बिहार के सीएम और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार का जन्मदिन है. इस पर पीएम मोदी ने उन्हें बधाई दी. अब विपक्ष से राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह ने भी सीएम नीतीश को जन्मदिन की बधाई दी है. बधाई देने के बाद रघुवंश प्रसाद सिंह ने जदयू पर हमला भी बोल दिया.

cm-nitish12
नीतीश कुमार, मुख्यमंत्री, बिहार

रघुवंश प्रसाद सिंह ने तो पहले नीतीश कुमार को उनके जन्मदिन पर बधाई दी. फिर उन्होंने जदयू पर निशाना साध दिया. एक बार फिर उन्होंने दावा किया कि जदयू के 24 विधायक उनके संपर्क में हैं. वे जल्द ही राजद में शामिल हो जाएंगे. इतना ही नहीं, उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि रालोसपा से बातें चल रही है. उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री व रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा से बातें चल रही है. जल्द ही एक और बड़ा उलटफेर हो सकता है. PM मोदी ने दी नीतीश कुमार को जन्मदिन की बधाई, बताया बिहार का डायनेमिक CM 

बता दें कि रघुवंश प्रसाद सिंह ने पूर्व में भी यह दावा किया था कि हम पार्टी प्रमुख जीतनराम मांझी राजद के संपर्क में हैं. उनका महागठबंधन में शामिल होना लगभग तय है. बस औपचारिक घोषणा ही बांकी है. हालांकि उस वक्त जीतनराम मांझी पलट गए थे. उन्होंने रघुवंश प्रसाद सिंह को ही हम पार्टी में आने का न्योता दे दिया था. लेकिन बुधवार को मांझी फाइनली महागठबंधन में शामिल हो गए.

इससे पहले, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने राजद में टूट के दावे को खारिज करते हुए कहा कि राजद-कांग्रेस में तोड़-फोड़ का दावा करने वाले राजग नेताओं को यह पहला झटका है. आगे और झटके मिलेंगे. तेजस्वी का संकेत राजग के एक और अहम सहयोगी एवं केंद्रीय राज्यमंत्री उपेंद्र कुशवाहा की ओर था.
शिक्षा में सुधार के मुद्दे पर उनकी पार्टी रालोसपा द्वारा इसी साल 30 जनवरी को आयोजित मानव शृंखला में राजद के वरिष्ठ नेताओं ने शिरकत की थी, जिसके बाद से कुशवाहा की निष्ठा भी संशय के घेरे में है.  तेजस्वी ने दावा किया कि लोकसभा चुनाव के पहले ही राजग बिखर जाएगा. जदयू में लगातार टूट हो रही है. हाल ही में विधायक सरफराज आलम ने नीतीश का साथ छोड़कर लालू की विचारधारा को चुना है. आगे और लोग शामिल होंगे.