‘आरजेडी वाले सिर्फ बकवास करते हैं’ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने तो यह सब भी कह दिया…

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क : जेडीयू में बहुत जल्द एक बड़ी टूट होगी. आरजेडी नेता श्याम रजक के इस दावे के बाद बिहार की सियासत गरम हो गयी थी. तरह-तरह के कयास लगाए जाने लगे थे. लेकिन सीएम नीतीश ने आरजेडी के दावों की हवा ही निकाल दी. सीएम नीतीश ने साफ कर दिया कि कोई भी किसी भी प्रकार का दावा कर रहा है वह सब बिल्कुल बकवास है. इसमें तनिक भी सच्चाई नहीं है.

दरअसल सीएम नीतीश पटना में निर्मित राजधानी जलाशय का निरीक्षण करने पहुंचे थे. जहां पर पक्षियों के लिए प्रकृतिक अधिवास बनाया गया है. पटना में इस प्रकार का प्रयोग पहली बार की गयी है . सीएम ने कहा कि बच्चों को इस प्रयोग से काफी फायदा पहुंचेगा. काफी नजदीक से बच्चे प्रकृति से अवगत हो पाएंगे.



उन्होंने कहा कि 4 जनवरी से बिहार के स्कूल खुल रहे हैं. 20-20 की संख्या में स्कूली बच्चें इसका आनंद ले पाएंगे. जिसकी सारी व्यवस्था कर दी गयी है. उन्हें पास से इन पंक्षियों को जानने का अवसर मिलेगा. वन विभाग की यह पहल काफी सराहनीय है.

बता दें कि आरजेडी नेता श्याम रजक ने डंके की चोट पर कहा है कि जेडीयू में बहुत जल्द एक बड़ी टूट होने वाली है. नीतीश कुमार के 17 विधायक मेरे संपर्क में है. वो लोग 28 विधायकों के टूटने का इंतजार कर रहे हैं. जैसे ही इनकी संख्या 25,26 हो जाएगी तो ये लोग खुले तौर पर आरजेडी में आने का ऐलान कर देंगे.

वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर सभी को धोखा देने का आरोप लगाते हुए श्याम रजक ने कहा कि उन्होंने किसी को नहीं छोड़ा. बीजेपी, आरजेडी और जनता को कई बारनीतीश कुमार ने धोखा देने का काम किया है. अपनी कुर्सी के बचाने के लिए वो कुछ भी कर सकते हैं.

श्याम रजक की बातों में कितनी सच्चाई है यह तो समय आने पर पता चलेगा. लेकिन यह सही है कि दल-बदल कानून के तहत एक पार्टी को तोड़ने के लिए कम से कम दो तिहाई विधायक होने चाहिए. बिहार विधानसभा में जदयू के 43 विधायक हैं. जिसके मुताबिक आरजेडी को कम से कम 28-29 विधायकों को अपने पक्ष में लाना होगा. तभी उनपर दलबदल कानून नहीं लागू होगा. अन्यथा उनकी विधायकी भी जा सकती है.