बोले मनोज झा, विपक्षी दलों को ‘ठिकाने लगाने’ की गंभीर साज़िश का जवाब जनता देगी

manoj

लाइव सिटीज डेस्क (नियाज आलम) : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की फैमिली की  संपत्ति जब्ती को लेकर मीडिया में चल रही खबर  पर राजद प्रवक्ता मनोज झा ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि संपत्ति ज़ब्ती की जिस प्रकार से खबर मीडिया के एक वर्ग में चलायी जा रही है उसके संदर्भ में राजद का स्पष्ट मत है कि उसमें सम्बद्ध एजेंसी द्वारा स्पष्टीकरण मांगना और ज़ब्त हो जाने के पहलुओं को सुविधानुसार एकीकृत कर दिया गया है.

हमारे वकील और हमारी लीगल टीम सारे प्रश्नों और पहलुओं पर बिंदुवार हमारा पक्ष रखेंगे. हमे दुख इस बात का है कि ना सिर्फ भाजपा बल्कि मीडिया का एक वर्ग भी अफवाह को खबर की शक्ल दे देते हैं.  मसलन आयकर के समक्ष न उपस्थित होने पर दस हज़ार रुपये का मीसा भारती पर जुर्माना आधारहीन था. हाँ बिहार की अवाम के सबसे बड़े प्रतिनिधि दल होने के नाते हम इस बात का भी एहसास है कि अलग अलग माध्यमों से हमारे स्वर को कमज़ोर करने की कोशिश की जा रही है. manoj

उन्होंने कहा कि हमारे विपक्ष के लोगों को यह समझ लेना चाहिए कि लालू प्रसाद के नेतृत्व में दलितों पिछड़ों, अल्पसंख्यकों और प्रगतिशील वर्ग की मुक्तिकामी चेतना की लड़ाई इन गीदड़ भभकियों से नहीं डरेगी.  हम तो मीडिया के साथियों से आग्रह करेंगे कि हम से जुड़े मसलों पर सनसनीख़ेज़ ख़बर बनाने से पहले उसकी समग्रता में पड़ताल भी की जानी चाहिए.

मनोज झा ने कहा कि राजनीतिक प्रतिशोध में केंद्र की तानाशाह सरकार आगे क्या करेगी वो तो भविष्य के गर्भ में है लेकिन आज जिस प्रकार केंद्र सरकार अपनी समर्थित मीडिया के माध्यम से प्रमुख विपक्षी दलों को येनकेन प्रकारेण ‘ठिकाने लगाने’ की गंभीर साज़िश का जवाब जनता की अदालत पुनः देगी. पूरा देश गवाह है कि किस प्रकार विपक्ष के मजबूत नेताओं से राजनीतिक लड़ाई में अक्षम केंद्र की सत्ता अब इन हथकंडों के सहारे ही संभवतः अस्तित्व बचाना चाहती है.

यह भी पढ़ें-  इनकम टैक्स के एक्शन पर बोले तेजस्वी, यह बदले की कार्रवाई