आरजेडी का घोषणा पत्र जारी, 10 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी, किसानों को कर्ज माफी समेत 17 मुद्दों को दी गयी प्रायोरिटी

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर अब राष्ट्रीय जनता दल ने भी अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया. पहले चरण की वोटिंग के ठीक 4 दिन पहले जारी अपने घोषणा पत्र को राजद ने नाम दिया है ‘हमारा प्रण’. इसमें इसमें कृषि व रोजगार को प्राथमिकता से रखा गया है. इसके अलावा उद्योग, उच्च शिक्षा, महिला सशक्तीकरण से लेकर स्मार्ट गांव तक पर फोकस किया गया है.

राजद ने पंचायती राज, स्वास्थ्य सेवा, स्वयं सहायता समूह, खेल नीति समेत कुल 17 मुद्दों को अपनी प्रायोरिटी में रखा है. इसमें कहा गया है कि तेजस्वी यादव के नेतृत्व में बनने वाली सरकार के कैबिनेट की पहली बैठक में 10 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी दी जाएगी, जो स्थायी होगी. युवाओं के अलावा राजद ने अपनी दूसरी बड़ी घोषणा किसानों के लिए की है. पार्टी ने कहा है कि सरकार बनने पर किसानों के सभी कर्ज माफ किए जाएंगे.



समान काम समान वेतन

घोषणापत्र में रोजगार और स्वरोजगार में नियोजित शिक्षकों को वेतनमान और सभी संविदा कर्मचारियों को स्थायी करने की भी घोषणा की गई है. प्रमुखता से कहा गया है कि नियोजित शिक्षकों समेत अन्य विभागों में संविदा को खत्म किया जाएगा और सभी को समान काम के बदले समान वेतन दिए जाएंगे. साथ ही घोषणा पत्र में सभी विभागों में निजीकरण खत्म करने को भी प्रमुखता से रखा गया है. पार्टी ने वादा किया है कि 10 लाख की नौकरी के लिए नियुक्तियां पहले से खाली पड़े पदों पर होंगी, साथ ही नए पद भी सृजन किए जाएंगे. रोजगार सृजन के लिए उद्योगों को प्रोत्साहित करने के लिए नई औद्योगिक पॉलिसी के तहत प्रभावी टैक्स डिफरेंट और टैक्स वेवर स्कीम लायी जाएगी.

बनायी जाएगी खेल नीति

घोषणा पत्र में लोन माफी से इतर भी किसानों के लिए बहुत कुछ है. वादा किया गया है कि सभी सिंचाई पंपों को सोलर पंप में तब्दील किया जाएगा. इतना ही नहीं, खेल नीति बनाने की भी बात कही गई है. इसके तहत खेल नीति के तहत बिहार में बड़े खेल विश्वविद्यालय की स्थापना के साथ हर प्रमंडल (डिविजन) में एक बड़े स्टेडियम के स्थापना को भी एजेंडे में शामिल किया गया है. वृद्धा पेंशन में पुरानी व्यवस्था लागू की जाएगी. गांव को स्मार्ट बनाया जाएगा.

घोषणा पत्र के प्रमुख बिंदु

. राज्य के सरकारी नौकरी में स्थानीय अभ्यर्थियों के लिए 85% आरक्षण.

.बुजुर्गों-गरीबों को हर माह 400 से बढ़ाकर 1000 रुपये मिलेंगे पेंशन में.

. कार्यपालक सहायक, लाइब्रेरियन और उर्दू शिक्षकों की होगी बहाली.

.प्रतिभागियों को फ्री में दिए जाएंगे प्रतियोगी परीक्षाओं के फॉर्म.

.युवाओं की समस्याओं को दूर करने को बिहार युवा आयोग का होगा गठन.

. हर जिले में बैंक-रेलवे, एसएससी की तैयारी के लिए मुफ्त कोचिंग व्यवस्था.

. भागलपुर के रेशम उद्योग क्लस्टर व मिथिला के मखाना उद्योग को बढ़ावा.

.विश्वविद्यालयों में रिक्त पड़े अकादमिक पदों पर बहाली.

. स्कूलों में माध्यमिक कक्षा से ही कौशल व कंप्यूटर की ट्रेनिंग.

. आंगनबाड़ी और आशा दीदी का मानदेय दोगुना होगा.

. हर जिले में छात्रों के लिए सुविधायुक्त लाइब्रेरी की होगी स्थापना.

. 35 साल तक के बेरोजगार युवाओं को 1500 रुपये मिलेंगे बेरोजगारी भत्ते.

.डॉक्टर, नर्स, पैरा मेडिकल कर्मचारी और सफाई कर्मचारियों की भर्ती.