संघ ने कह दिया- आरक्षण लेने वाले अब खुद तय करें कि कब तक फायदा चाहते हैं

लाइव सिटीज डेस्क : संघ ने आरक्षण पर एक बार फिर से अपनी राय रखी है. इस बार अंदाज कुछ दूसरा है.  संघ ने कहा है कि आरक्षण लेने वाले अब खुद तय करें कि कब तक इसका फायदा उठाना चाहते हैं. साथ ही उन्होंने देश की इकॉनमी, मध्य प्रदेश सरकार और किसानों पर भी बातें की.

रिजर्वेशन के मामले पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरकार्यवाह सुरेश भैयाजी जोशी ने शनिवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि जो ऑफिसर रिजर्वेशन का फायदा ले रहे हैं, उन्हें ये तय करना चाहिए कि कब तक इसका फायदा लेना चाहिए.

उन्होंने कहा कि डॉ. अंबेडकर ने एक सोशल प्रॉब्लम को सामने लाकर रिजर्वेशन का प्रॉविजन किया था. जब तक सोसायटी को इसकी जरूरत है उसे इसका फायदा मिलना चाहिए. रिजर्वेशन के चलते ऑफिसर में मतभेद नहीं होना चाहिए. भैयाजी ने ये बात भोपाल में हुई आरएसएस की अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक होने के बाद मीडिया के सामने रखी.

बता दें कि प्रमोशन में रिजर्वेशन के मामले में एमपी गवर्नमेंट सुप्रीम कोर्ट गई है. इस सवाल पर उन्होंने कहा कि इस बारे में संघ में कोई चर्चा नहीं हुई है. किसानों की खुदकुशी के बारे में जोशी ने कहा कि किसानों को उनकी फसल का सही दाम नहीं मिलने से दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. उनकी फसल का सही दाम तय करने और उसे खरीदने के लिए सही सिस्टम होना चाहिए. उन्होंने कहा कि कर्ज माफी सॉल्युशन नहीं है. किसानों को इस लायक बनाना चाहिए कि वे कर्ज चुका सकें.

यह भी पढ़ें-  नरेन्द्र मोदी नहीं, ये है RSS के राष्ट्रवाद का नया पोस्टर ब्वॉय

कब तक रहेंगे किराये में : कीमतें बढ़ने के पहले खरीदें 9 लाख का फ्लैट, ऑफर में Gold Coin भी

iPhone 8 पटना को सबसे पहले गिफ्ट करेगा चांद बिहारी ज्वैलर्स, सोने के सिक्के तो फ्री हैं ही

धनतेरस में करें रॉयल जूलरी की शॉपिंग, कलेक्शन लाए हैं चांद बिहारी ज्वैलर्स

धनतेरस पर बेस्ट आॅफर दे रहे हैं हीरा-पन्ना ज्वैलर्स, Turkish जूलरी के साथ Gold Coin भी फ्री

स्मार्ट बनिए आ रही DIWALI में, अपने Love Bird को दीजिए Diamond Jewelry

अभी फैशन में है Indo-Western लुक की जूलरी, नया कलेक्शन लाए हैं चांद बिहारी ज्वैलर्स

चांद बिहारी अग्रवाल : कभी बेचते थे पकौड़े, आज इनकी जूलरी पर है बिहार को भरोसा

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)