पुलिस रिमांड पर आ चुका है सौरव आनंद, गेट पर तैनात मजिस्ट्रेट व पदाधिकारी की भी हो गई है पहचान

पटना : UPSC के तहत होने वाले NDA एग्जाम में धांधली करते हुए पकड़े गए शातिर सौरव आनंद को पुलिस रिमांड पर ले लिया गया है. पटना पुलिस ने इस बात की पुष्टि कर दी है. अब मामले की जांच कर रही एसआईटी सौरव आनंद से कई प्वाइंट पर पूछताछ करेगी. सबसे बड़ा सवाल तो यही है कि एएन कॉलेज के एग्जामिनेशन हॉल के अंदर वो अपना एंड्रॉयड मोबाइल लेकर कैसे पहुंचा? वो खुद लेकर गया था? क्या मेन गेट पर तैनात मजिस्ट्रेट और पदाधिकारियों ने उसकी जांच नहीं की थी? कहीं सेटिंग—गेटिंग के खेल में एग्जामिनेशन सेंटर पर तैनात कोई स्टाफ मिला हुआ तो नहीं था? इस तरह के कई सवाल हैं, जो रिमांड पर आए सौरव आनंद से पूछे जाएंगे.

बड़ी बात ये है कि एग्जाम के दौरान क्वेश्चन पेपर का फोटो खींच कर सौरव ने जिस व्हाट्स ग्रुप में डाला था, उस ग्रुप की पूरी लिस्ट अब एसआईटी के पास है. इस ग्रुप में शामिल मेंबर्स के मोबाइल नंबर्स की जांच की जा रही है. सोर्स की मानें तो मोबाइल टावर लोकेशन के आधार पर ये भी पता लगाया जा रहा है कि ग्रुप का कोई मेंबर एग्जामिनेशन सेंटर के आसपास में मौजूद तो नहीं था? ग्रुप के हर एक मेंबर की कुंडली को खंगाला जा रहा है.

UPSC NDA Exam धांधली मामला : SSP से मिले ज्वाइंट सेक्रेटरी, शुक्रवार को रिमांड पर आएग सौरव
— खराब मिला सीसीटीवी

मामले की जांच कर रही एसएसपी मनु महाराज की अगुआई वाली एसआईटी ने एएन कॉलेज में लगे सीसीटीवी कैमरे को खंगालना शुरू किया. तभी जांच के दौरान पता चला कि मेन गेट का सीसीटीवी कैमरा ही खराब है. इस वजह से अब एसआईटी के सामने परेशानी खड़ी हो गई है. इंट्री के वक्त मेन गेट पर कैंडिडेट्स की चेकिंग किन लोगों ने की थी और सौरव आनंद की चेकिंग हुई थी भी या नहीं? इन सवालों के जवाब खोजने में अब एसआईटी को दिक्कतें हो रही है. हालांकि एसआईटी के लिए राहत भरी बात ये है कि उनके हाथ एग्जामिनेशन हॉल में लगा सीसीटीवी कैमरे का वीडियो फुटेज लग गया है. जिसे एसआईटी खंगालने में जुटी है.

— शनिवार को हो सकती है पूछताछ
एग्जाम के दौरान सेंटर पर तैनात किए गए मजिस्ट्रेट और दूसरे पदाधिकारियों की पहचान भी कर ली गई है. एसआईटी की मानें तो ड्यूटी पर लगाए गए मजिस्ट्रेट से लेकर सभी पदाधिकारियों की लिस्ट उन्हें मिल गई है. संभावना है कि शनिवार को इन सभी से एक—एक कर पूछताछ की जाएगी. अगर किसी की लापरवाही या मिली भगत की बात सामने आई तो उसके खिलाफ कार्रवाई तय है.

About Amit Jaiswal 1004 Articles
पटना में क्राइम की हर खबरों पर होती है पैनी नजर

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*