महागठबंधन में हो गया सीटों का बंटवारा, तेजस्वी ने ये सारी बातें कहीं…

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : महागठबंधन में सीटों पर से सस्पेंस खत्म हो गया. तेजस्वी ने सीटों का एलान करते हुए बताया कि कांग्रेस 70 सीटों पर चुनाव लड़ेगी, माले 19, सीपीएम 4, सीपीआई को 6 सीटें दी गयी है. साथ ही शेष बची 144 सीटों में वीआईपी और जेएमएम को देने की घोषणा की गयी. हालांकि सीट क्लियर नहीं होने से खफा मुकेश सहनी ने महागठबंधन के अलग होने की घोषणा कर दी है.

तेजस्वी ने सीटों की घोषणा करते हुए सभी घटक दलों के शीर्ष नेतृत्व को धन्यवाद दिया. साथ ही नेतृत्व में चुनाव लड़ने के निर्णय पर कहा कि मैं सभी साथियों के विश्वास पर खरा उतरने का प्रयास करूंगा.



अपने संबोधन भाषण के दौरान तेजस्वी ने कहा कि बिहार की जनता बदहाल, परेशान, लाचार और बीमार है. डबल इंजन की सरकार आईसीयू में है. 15 सालों में बिहार से बेरोजगारी, भूखमरी खत्म नहीं हुआ. एक भी कल कारखाना नहीं लगा. युवाओं पर डंडे बरसाने का नीतीश सरकार ने काम किया. 15 सालों में किसानों का शोषण करने का काम किया गया है.

तेजस्वी ने आगे कहा कि मौका मिला तो मैं बिहारवासियों के मान, सम्मान की रक्षा, सुरक्षा करूंगा. सभी जात,धर्म के लोगों को लेकर चलेंगे. बिहार के नौजवान, किसान, बेरोजगारों की समस्या को दूर किया जाएगा .

नीतीश सरकार पर हमला बोलते हुए तेजस्वी ने कहा कि डबल इंजन की सरकार में 4 घंटे में रेप और 5 घंटे में हत्याएं होती है. मौजूद सरकार जल के जम जाने की तरह है. इस प्रदेश को शुद्ध जल की तरह एक विकल्प चाहिए. बिहार की जनता बदलाव चाहती है.  बिहारी जाग चुके है. डर और लालच के कारण नीतीश कुमार ने संप्रदायिक शक्तियों के साथ समझौता करने का काम किया.

नीतीश कुमार को बिहार की चिंता नहीं. बिहार भाषणा से नहीं, काम पर विश्वास करता है. बिहार के गौरव के लिए, तरक्की के लिए रास्ते के नये विकल्प की जरूरत है.महागठबंधन की सरकार बनते ही पहले कैबिनेट में पहले हस्ताक्षर से 10 लाख नौकरी देने का काम किया जाएगा. 10 नवंबर को रिज्लट और 18 नवंबर को सरकार बन जाएगी. ऐसे में एक से डेढ़ महीने में मैं वादा पूरा करूंगा. सरकारी नौकरियों में फॉर्म का पैसा नहीं लगेगा.

वहीं बहुत जल्द कॉमन मिनिमम प्रोग्राम लाने की बात करते हुए तेजस्वी ने अपने उन साथियों को निराश नहीं होने की सलाह दी जिन्हे इस बार चुनाव लड़ने का मौका नहीं मिलेगा. उन्होंने कहा कि वो इन निकम्मी सरकार को उखाड़ फेंकने में सहयोग करें.