सड़क किनारे झोले में फेंका नवजात को देख, पटना में तैनात इस ट्रेनी महिला डीएसपी ने कर दिया ये काम…चारों तरफ हो रही चर्चा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: पटना की इस महिला प्रशिक्षु डीएसपी की चर्चा आज चारों तरफ हो रही है. परसा बाजार थाने में तैनात इस महिला डीएसपी के कारनामों से पूरा पुलिस डिपार्टमेंट गर्व कर रहा है. जो भी इस प्रशिक्षु डीएसपी के द्वारा किए गए कार्यो को जो सुन रहा है, वो कह रहा है कि इस महिला अधिकारी ने नारी शक्ति और मानवीय संवेदना की एक अनोखी मिसाल पेश की है.

दरअसल पटना के परसा बाजार थाने में तैनात ट्रेनी डीएसपी प्रिया ज्योती ड्यूटी पर थी. पुलिस जिप्सी इलाके में घूम रही थी. इसी बीच सड़क किनारे से एक झोले से नवजात बच्चे की रोने की आवाज सुनायी दी. तुरंत महिला डीएसपी ने गाड़ी को रूकवाया, और जिधर से आवाज आ रही थी उस ओर दौड़ गयी. पास जाकर देखा तो झोला में एक नवजात रो-रोकर अंतिम सांसे गिन रहा है. फिर क्या था महिला डीएसपी का ममता भरा दिल जाग उठा. डीएसपी ने उस बच्चे को सड़क से उठाकर पहले तो अपने सीने से लगा लिया फिर उसकी भूख शांत करने के लिए गाय का दूध मंगाकर पिलाया. वो बच्चे को सीने से लगाकर सीधे स्थानीय निजी अस्पताल पहुंच गयी.

डीएसपी ने सबसे पहले नवजात का इलाज कराया. बच्चा पूरी तरह स्वस्थ्य हुआ तो ट्रेनी डीएसपी की गोद में किलकारियां मारने लगा, मानो वह अपनी मां की गोद में आ गया हो. नवजात का इलाज कराने के बाद उसे दानापुर स्थित सृजनी दत्तक ग्रहण संस्थान को सौंप दिया गया. यह संस्थाना पद्मश्री सुधा वर्गीज की नारी गुंजन संस्था द्वारा चलाया जाता है.