लालू का दावा : शरद यादव ने मुझे किया फोन, कहा- मैं आपके साथ हूँ

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार में आज नई सरकार के मंत्रिमंडल का विस्तार होने वाला है. अब राज्य में एनडीए की सरकार है. राजद से जदयू का नाता टूट चुका है. इससे जदयू के नेताओं के सुर बदल चुके हैं. अब जदयू लालू प्रसाद पर हमलावर है. लेकिन जदयू के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद शरद यादव अब तक चुप हैं. मीडिया से बात नहीं कर रहे. लेकिन राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने कहा है कि शरद यादव ने उन्हें फ़ोन कर कहा है कि वे उनके साथ हैं. 

राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद के इस चौंकाने वाले बयान से सियासत में एक बार फिर से हलचल मची हुई है. मीडिया से बात करते हुए लालू यादव ने कहा कि नीतीश कुमार द्वारा विश्वास मत ( एनडीए 131-108 से जीत गई) हासिल करने के बाद शरद ने उनको फोन किया और कहा कि वह लालू के साथ हैं.

मालूम हो कि पिछले कुछ वक्त से नीतीश कुमार विपक्ष की 18 पार्टियों से बातचीत नहीं कर रहे थे. ऐसे में जदयू की तरफ से शरद यह काम देख रहे थे. उन पार्टियों के साथ मीटिंग्स में शरद यादव लगातार कहते रहे कि जदयू की भी पहली लड़ाई बीजेपी और नरेंद्र मोदी से ही है. 

बिहार का महागठबंधन (नीतीश और लालू की पार्टी के बीच) टूटने के बाद शरद यादव की चुप्पी के लोग अपने-अपने मायने लगा रहे हैं. शरद यादव पिछले कुछ महीनों से संसद में भी चुपचाप दिखे. मीटिंग और किसी कार्यक्रम में नेताओं और लोगों से मिलते वक्त वह ज्यादा बातचीत नहीं कर रहे. जिस जिन नीतीश कुमार एनडीए में वापस आए उस दिन शरद यादव एक कार्यक्रम में थे. लेकिन वह वहां ज्यादा देर रुके नहीं. लोग यह अनुमान लगा रहे हैं कि शरद यादव जदयू से बगावत कर आरजेडी या कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं.

यह भी पढ़ें-  केंद्र में मंत्री नहीं बनेंगे, अब संग्राम करेंगे शरद यादव