आज से ‘शरद’ यात्रा, 3 दिन तक घूम-घूम कर समझेंगे जनता का मूड

लाइव सिटीज डेस्क : जदयू से राज्यसभा सांसद शरद यादव की नाराजगी अभी खत्म नहीं हुई है. अब तो जदयू ने भी उनसे किनारा कर रखा है. खुल कर हमले भी अब किये जा रहे हैं. बावजूद इस सबके शरद यादव महागठबंधन के टूट जाने का दुःख लिए आज बिहार आ रहे हैं. नई रणनीति तैयार कर रहे हैं. शरद यादव ने बिहार की जनता के बीच जाने का फैसला किया है. 

बता दें कि शरद यादव ने सोशल मीडिया में बिहार में 3 दिनों के कार्यक्रम की एक प्रति शेयर की है. जिसके अनुसार वे 10, 11 और 12 अगस्त को बिहार के कई जिलों में घूमेंगे. जनता के मूड को समझेंगे. शरद यादव का मानना है कि सीएम नीतीश कुमार ने महागठबंधन तोड़ कर बड़ा ही दुर्भाग्यपूर्ण कदम उठा लिया है. जनादेश अकेले नीतीश कुमार को नहीं मिला था. यह जनादेश महागठबंधन को मिला था. जिसे सीएम नीतीश कुमार ने तोड़ दिया. अब जनता क्या सोच रही है इसे जानने के लिए वे बिहार में जगह-जगह घूमेंगे. फिर जनता के मूड को समझने के बाद अगला कदम उठाएंगे. 

बता दें कि तय कार्यक्रम के अनुसार शरद यादव 10 अगस्त को पटना से अपनी यात्रा शुरू करेंगे और सोनपुर मुजफ्फरपुर के गांव-देहात तक जाएंगे. फिर मुजफ्फरपुर में ही रात्रि विश्राम करेंगे. फिर अगली सुबह यानी 11 अगस्त को मुजफ्फरपुर से दरभंगा और मधुबनी की यात्रा प्रारंभ करेंगे. मधुबनी में भी शरद रात में ठहरेंगे. फिर 12 अगस्त की सुबह वे मधुबनी से सुपौल, सहरसा और मधेपुरा की जनता के बीच जाएंगे. 

बता दें कि अब कयास यह लगाया जा रहा है कि शरद यादव इन सब कार्यक्रम के बाद कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं. चर्चा यह भी है कि वे नई पार्टी की घोषणा कर सकते हैं. हालांकि शरद यादव अभी तक इस बारे में कुछ भी कहने से बचते आ रहे हैं. लेकिन नीतीश कुमार के फैसले से नाराजगी खुल कर दिखा रहे हैं. अब जदयू भी उन पर खुल कर हमला बोल रहा है. साथ ही कहा गया है कि शरद यादव द्वारा उठाये गए कदम का जदयू से कोई लेना देना नहीं है.

यह भी पढ़ें –दूध में पड़ी मक्खी की तरह निकाल फेंका था शरद यादव को