शिवानंद बोले – बदहवास BJP की भगवान राम पर राजनीति शर्मनाक है, मुद्दा नहीं इनके पास

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्कः जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव करीब आ रहा है वैसे-वैसे राम मंदिर का मुद्दा उठता जा रहा है. एक तरफ जहां भाजपा इस मुद्दे पर बयानबाजी कर रही है, वहीं विपक्ष की ओर से भी हमला जारी है. राजद के सीनियर लीडर शिवानंद तिवारी ने राम मंदिर के मुद्दे पर भाजपा को घेरा है. उन्होंने कहा है कि बदहवास भाजपा जिस प्रकार भगवान राम को कीचड़ में घसीट रही है वह शर्मनाक है.

शिवानंद ने कहा कि जनता के बीच जाकर अपने काम के बल पर वोट मांगने का इनको साहस नहीं है. ऐसा कोई काम इन्होंने किया ही नहीं है जिसको दिखाकर दुबारा सत्ता में जाने का समर्थन ये जनता से मांग सकें. इसलिए विधर्मी लोग राममंदिर और हिंदू धर्म के नाम पर वोट पाना चाहते हैं. लेकिन जनता के सामने इनकी पोल खुल चुकी है. देश की जनता के मुड का अंदाज़ा अभी कर्नाटक के उपचुनाव में लगा है. इस नतीजे से इनकी बेचैनी और बढ़ गई है.

तिवारी ने आगे कहा कि इनकी कोशिश होगी कि जगह-जगह सांप्रदायिक दंगा कराकर वोट हासिल करें. इस काम में इन लोगों को विशेषज्ञता हासिल हैं. इनका अंतिम सहारा यही है. इसलिए जो भी इन देशद्रोहियों को देश हित में सत्ता से बेदख़ल करना चाहते हैं उनका कर्त्तव्य है कि जगे रहें. सतर्क रहें. और इनकी साज़िश को सफल नहीं होने दें.

राम मंदिर पर गिरिराज का बयान

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि राम मंदिर को लेकर सवा सौ करोड़ लोगों में व्याकुलता है. इसलिए इस पर कोर्ट और सरकार को विचार करने की जरूरत है. केंद्रीय लघु सूक्ष्म और मध्यम उद्यम मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि राम मंदिर का अध्यादेश राज्य सभा सदस्य राकेश सिंहा प्राइवेट बिल को लेकर आ रहे हैं. इसमें सौ करोड़ हिन्दुओं का सम्मान है. इसलिए राम मंदिर बनाने से कोई नहीं रोक सकता.

राम मंदिर पर बोले सुमो

बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने राम मंदिर को लेकर बड़ा बयान दिया है और कहा है कि मस्जिद तो कहीं भी बन सकता है. लेकिन, राम मंदिर कहीं और नहीं बन सकता है. मोदी ने कहा कि हम चाहते हैं कि सुप्रीम कोर्ट जल्द से जल्द अयोध्या मामले पर सुनवाई कर फैसला दे, क्योंकि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण करोड़ों हिन्दुओं की अभिलाषा है. उन्होंने कहा कि जब सुप्रीम कोर्ट आधी रात में कर्नाटक सरकार से जुड़े फैसले कर सकती है, समलैंगिकों पर फैसला कर सकती है तो फिर राम मंदिर का मामला वर्षों से अदालत में क्यों लटका है.

About Md. Saheb Ali 3663 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*