श्रीनारायण सिंह हत्याकांड का शिवहर पुलिस ने किया खुलासा, गिरफ्तार शूटर ने उगले कई राज…

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : शनिवार को शिवहर में जनता दल राष्ट्रवादी पार्टी के प्रत्याशी श्रीनारायण सिंह की हत्या मामले की पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया. जिले के एसपी संतोष कुमार ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि इस हत्या का तार तिहाड़ जेल में बंद विकास झा उर्फ कालिया से जुड़ा हुआ है. गैंगस्टर संतोष की हत्या का बदला लेने और अपना वर्चस्व स्थापित करने के उद्देश्य से किया गया है.

एसपी ने बताया कि दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद गैंगस्टर संतोष झा का शागिर्द विकास झा उर्फ कालिया का श्रीनारायण सिंह की हत्या का मुख्य साजिशकर्ता है. उसने ही अपने गुर्गो की सहायता से वारदात को अंजाम देने का काम किया है.



उन्होंने बताया कि कालिया को शक था कि श्रीनारायण सिंह ने ही संतोष झा की हत्या करायी थी. जिसका बदला उसने इस वारदात को अंजाम देकर लिया. गोलीबारी के बाद भाग रहे दो अपराधी सीतामढ़ी जिला के रुन्नीसैदपुर थाना क्षेत्र के मानिक चौक के गौरी शंकर महाराज और बथनाहा थाना क्षेत्र के बथनाहा पूर्वी टोला के नीरज पाठक उर्फ चाइनीज को पकड़ लिया गया था. लोगों की मारपीट में गौरी शंकर महाराज गंभीर रूप से जख्मी हो गया था, जिसकी बाद में मौत हो गई थी.

एसपी ने संतोष कुमार ने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों ने कबूल किया है कि कालिया संतोष झा की हत्या के लिए श्रीनारायण सिंह को जिम्मेदार मानता था. विकास झा उर्फ कालिया तिहाड़ से व्हाट्सएप कॉल कर अपने इन शागिर्दों को श्रीनारायण सिंह की हत्या के लिए लगातार निर्देश दे रहा था. गिरफ्तार अभियुक्त ने स्वीकार किया है कि लगभग ढाई माह पूर्व विकास झा ने इन लोगों को श्री नारायण सिंह की हत्या करने के निर्देश दिया गया था.

गिरफ्तार अभियुक्त ने बताया कि पटना में 21- 22 दिनों तक श्रीनारायण सिंह की हत्या करने का प्रयास किया था, लेकिन पुलिस की भारी बंदोबस्त के कारण वे सफल नहीं हो सके थे. घटना के दिन गौरी शंकर महाराज, नीरज पाठक और बाबू साहब झा तीनों एक बाइक पर सवार होकर आए और गौरी शंकर महाराज और नीरज पाठक श्री नारायण सिंह के साथ चल रहे समर्थकों की भीड़ में शामिल हो गए और घटना को अंजाम दे डाला.