रिटायरमेंट के बाद अब लंबे समय के लिए इटली जाना चाहती हैं सोनिया गांधी

लाइव सिटीज डेस्क : कांग्रेस में तक़रीबन 20 सालों बाद बड़ा बदलाव हुआ है. सोनिया गांधी ने रिटायरमेंट का एलान कर दिया है. राहुल गांधी अब कांग्रेस के नए बॉस हैं. सोनिया गांधी ने मीडिया को जानकारी देते हुए कहा था कि बीते दो तीन सालों से राहुल ही पार्टी में फैसले ले रहे हैं. तो राजनीतिक खेमों में अब यह  हलचल ही कि सोनिया गांधी रिटायरमेंट के बाद अब क्या करने वाली हैं ? तो इसका जवाब अब सामने आ गया है. बेटे राहुल को पार्टी की कमान सौंप सोनिया गांधी अब कुछ समय का ब्रेक चाहती हैं. सोनिया एक लंबा से ब्रेक लेकर इटली अपनी मां के पास जाना चाहती हैं.

राहुल गांधी और सोनिया गांधी (फाइल फोटो )

बता दें कि राहुल गांधी ने शनिवार को कांग्रेस अध्यक्ष पद की आधिकारिक तौर पर शनिवार को कमान संभाल ली. नई दिल्ली स्थित कांग्रेस के मुख्यालय में आयोजित एक समारोह के दौरान राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद का कार्यभार संभाला. इससे पहले राहुल की मां सोनिया गांधी पार्टी की अध्यक्ष थीं.



राहुल के अध्यक्ष बनने के बाद फिलहाल सबसे बड़ा यह सवाल खड़ा होता है कि सोनिया पार्टी में कौन सा कार्यभाल संभालेंगी. पार्टी के लोग चाहते हैं कि सोनिया महत्वपूर्ण एवाइजर के तौर पर उनसे जुड़े रहें ताकि जब भी पार्टी को उनकी जरूरत हो वे उनसे सलाह ले सकें. कांग्रेस ही नहीं उनकी अन्य सहयोगी पार्टियां भी सोनिया के साथ शांतिप्रद व्यवहार महसूस करें और वहीं राहुल के साथ बेझिझक होकर बात कर सकें. खैर, सोनिया अभी पार्टी की कोई भी जिम्मेदारी नहीं लेना चाह रही हैं इसलिए वे छुट्टी पर जाने की तैयारी कर रही हैं.

इस मौके पर सोनिया गांधी ने कहा कि मैं राहुल को अध्यक्ष बनने की शुभकामनाएं, बधाई और आशीर्वाद देती हूं. आज मैं आखिरी बार कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर संबोधित कर रही हूं.  राजनीति में आने पर राहुल पर भयंकर हमले हुए. लेकिन इन हमलों ने राहुल को मजबूत बनाया. सत्‍ता, शोहरत और स्‍वार्थ हमारा मकसद नहीं है, हमारा मकसद देश है. यह नैतिक लड़ाई है. हम डरने और झुकने वाले नहीं है.