काम पर लौटे पटना एम्स के हड़ताली नर्सिंग स्टाफ, मान ली गयी यह सब मांग…

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क : पटना एम्स के हड़ताली नर्सिंग स्टाफ काम पर लौट गए है. संविदा नर्सिंग स्टाफ के काम पर लौटते ही अस्पताल में स्वास्थ्य व्यवस्ता पटरी पर आ गयी. शुक्रवार को सुबह 7 बजे से करीब 750 नर्सिंग स्टाफ समान काम समान वेतन की मांग को लेकर अनिश्चतकालीन हड़ताल पर चले गए थे.

नर्सिंग स्टाफ के हड़ताल के बाद अस्पताल प्रशासन की ओर से चेतावनी पत्र जारी किया गया. जिसमें साफ तौर पर कहा गया था कि काम पर लौट जाए वरना उनका रजिस्ट्रेशन तक कैंसल कर दी जाएगी. इसके बाद भी हड़ताली स्टाफ काम पर नहीं लौटे.



हड़ताली स्टाफ के अड़े रहने के बाद एम्स प्रशासन की ओर से स्वास्थ्य सेवाओं के निदेशक को इनके मांग की सूची भेजी गयी. जिसकी जानकारी देते हुए पटना एम्स के निदेशक डॉक्टर प्रभात कुमार सिंह ने बताया कि भेजी गयी सूची में चार मांग को मान लिया गया है. सेवा स्थायी करने और समान काम के लिए समान वेतन की मांग नहीं मानी जा सकती है.  

इन मांगों को लेकर संविदा नर्सिंग स्टाफ ने किया था हड़ताल

  • समान काम के लिए समान वेतन मिले, वेतनमान बढ़ाया जाए
  • स्थायी स्टाफ की तरह मेडिकल सुविधा व छुट्टी मिले
  • थर्ड पार्टी के अधीन से हटाकर एम्स खुद अपने अधीन करे
  • स्थायी बहाली हो तो प्राथमिकता मिले
  • कोई काम छोड़े तो एम्स के लेटरपैड पर अनुभव प्रमाण पत्र मिले