इंटर कॉउंसिल के बाहर छात्र संगठनों का भूख हड़ताल शुरू

लाइव सिटीज डेस्क(नियाज आलम) : इंटर परिणाम में गड़बड़ी को लेकर वामपंथी छात्र संगठनों ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है. इसी क्रम में बिहार बंद के आह्वान के बाद अब 8 वामपंथी छात्र संगठनों ने इंटर कॉउंसिल के बाहर अनिश्चितकलीन भूख हड़ताल शुरू कर दिया है. 

भूख हड़ताल पर बैठने वालों में आइसा के विकास विद्रोही, एआईएसएफ के राज कपूर, एआइवाइएफ के रोशन, डीवाईएफआई से रजनीश, एसएफआई से दीपक वर्मा, आरवाइए से मनीष, एआइडीएसओ से सौरभ और एआइडीवाइओ से उमाशंकर वर्मा शामिल हैं.

भूख हड़ताल का संचालन आइसा के राज्य सह सचिव आकाश कश्यप कर रहे हैं. भूख हड़ताल की शुरुआत आरवाइए के राज्य सचिव नवीन कुमार व डीवाइएफआइ के राज्य अध्यक्ष मनोज चंद्रवंशी ने छात्रों को माला पहनाकर किया. 

बता दें इंटर  परीक्षा का खराब रिजल्ट आने से नाराज छात्र-छत्राओं का इंटर काउंसिल के बाहर लगातार प्रदर्शन जारी है. कई बार पुलिस द्वारा छात्रों पर लाठी चार्ज एवं खदेड़ कर भागा देने की कोशिश भी की गई थी. लेकिन अब स्टूडेंट यूनियन का मैदान में कूद पड़ने से यह विवाद और भी गहराता जा रहा है.

हाल ही में स्टूडेंट यूनियन का एक प्रतिनिधिमंडल भी शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी से मिला था. तो उन्होंने छात्रों की मांग माने जाने का आश्वासन डे कर उन्हें विदा कर दिया था. लेकिन फिर कोई कार्रवाई नहीं होने की बात से नाराज छात्र एक बार फिर भूख हड़ताल पर उतर आये हैं. बता दें कि छात्रों की मांग है कि बोर्ड अध्यक्ष पर कार्रवाई हो, पुनर्मूल्यांकन किया जाए. स्क्रूटनी की फीस न लगे. आदि.

यह भी पढ़ें-  इंटर रिजल्ट को लेकर अशोक चौधरी से मिले AISF प्रतिनिधि, मांगों पर विचार का मिला आश्वासन