बिहार सरकार ने की बड़ी घोषणा, अब छात्रों को हायर एजुकेशन के लिए मिलेंगे 4 लाख रूपये

लाइव सिटीज डेस्क : सीएम नीतीश कुमार लगातार बिहार में शिक्षा पर जोर दे रहे हैं. छात्र अधिक से अधिक पढाई पर ध्यान दें, इसके  लिए सीएम नीतीश कुमार कई तरह की सुविधा दे रहे हैं. कोई भी छात्र गरीबी की वजह से पढाई बीच में ही न छोड़ दें इसका भी सीएम खासा ध्यान रख रहे हैं. बिहार में स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना काफी चर्चे में है. अब नीतीश कुमार ने एक कदम आगे बढ़ते हुए आज कह दिया है कि उच्च शिक्षा हासिल करने के लिए छात्रों को 4 लाख रुपये की राशि मुहैया करायी जाएगी. सरकार की इस योजना के पीछे मंशा है कि कोई भी छात्र गरीबी के कारण उच्‍च शिक्षा पाने से वंचित न रह जाए.

स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड वितरण योजना का शुभारंभ करते हुए मुख्यमंत्री ने बताया कि वित्त और शिक्षा विभाग इसके लिए बधाई के पात्र हैं. दोनों विभाग हमारे सात निश्चय की योजना को लागू कराने में लगे हैं. उच्च शिक्षा को बेहतर करने के लिए यह योजना चलाई जा रही है। छात्रों को इस योजना की जानकारी दी जा रही है, ताकि ज्यादा से ज्यादा छात्र इस योजना का लाभ उठा सकें. बता दें कि मुख्यमंत्री के पत्र के माध्यम से स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना की जानकारी दी जा रही है.

हिन्दी-अंग्रेजी का पेपर देकर मैट्रिक-इंटर के बराबर हो जायेंगे बिहार के ITI स्टूडेंट्स

मुख्यमंत्री ने कहा कि छात्रों के बौद्धिक क्षमता बढ़ने से जनसंख्या नियंत्रण भी होता है. अब सभी पंचायतों में हायर सेकेंडरी स्कूल खोल गया है. मैं बेटियों को पढ़ते हुए देखता हूं तो मेरा मन खुश हो जाता है. हमारी सरकार शिक्षा को बढ़ावा देने का काम करती है. पोशाक, साइकिल योजना से छात्रों का इनरॉलमेंट बढ़ा है.

साइकिल योजना से छात्राओं का मानसिक परिवर्तन भी हुआ है जिसे कई राज्यों के सरकार और संस्था ने भी स्वीकार किया है. सीएम ने कहा कि सभी बच्चों को सद्भावना और भाईचारा सीखना चाहिए और मिल-जुलकर रहना चाहिए. सोशल मीडिया के माध्यम से समाज में विसंगति फैल रही है.

About Ranjeet Jha 2861 Articles
I am Ranjeet Jha (पत्रकार)

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*