एक बार फिर धोनी का साथ निभाया सुरेश रैना ने, इंटरनेशनल क्रिकेट को कहा अलविदा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के सन्यास लेने की खबर अभी पूरी तरह से क्रिकेट फैंस के पास पहुंची भी नहीं थी कि एक और बड़ी खबर आ गई है. धोनी के करीबी दोस्त और भारतीय टीम में उनके साथी खिलाड़ी सुरेश रैना ने भी इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया है.

सुरेश रैना ने इंस्टाग्राम पर धोनी को बधाई देते हुए इस सफर में उनके साथ चलने की बात कही और भारतीय टीम को बाय बोल दिया.



View this post on Instagram

It was nothing but lovely playing with you, @mahi7781 . With my heart full of pride, I choose to join you in this journey. Thank you India. Jai Hind! 🇮🇳

A post shared by Suresh Raina (@sureshraina3) on

सुरेश रैना पिछले कुठ दिनों से क्रिकेट नहीं खेल रहे थे. रैना को बाएं पैर के घुटने मेें चोट लगी थी जिसके कारण वह आईपीएल 2019 की समाप्ति के बाद से प्रतियोगी क्रिकेट नहीं खेल सके हैं. हालांकि, रैना ने इस साल की शुरुआत में ही क्रिकेट की ट्रेनिंग शुरु कर दी थी और लॉकडाउन लगने के पहले तक चेन्नई सुपरकिंग्स के साथ अभ्यास कर रहे थे. सीएसके के साथ चेपक स्टेडियम में रैना भारतीय टीम के पूर्व और सीएसके के वर्तमान ट्रेनर जॉर्ज किंग के अंडर ट्रेनिंग ले रहे थे.

सुरेश रैना क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में शतक लगाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज हैं. रैना ने वनडे में 55 बार चेस करते हुए भारतीय टीम को जीत दिलाई है. वनडे में लक्ष्य का पीछा करते हुए रैना के नाम 2 शतक और 13 अर्धशतक हैं. रैना टी-20 इंटरनेशनल में शतक लगाने वाले भारत के पहले और दुनिया के तीसरे बल्लेबाज हैं. टी-20 विश्व कप में शतक लगाने वाले रैना इकलौते भारतीय हैं.

सुरेश रैना ने जुलाई 2018 में भारत के लिए आखिरी बार खेला था, लेकिन लगभग एक साल तो वह चोट के कारण बाहर रहे. इस साल होने वाले आईपीएल में अच्छा परफॉर्म करके रैना एक बार फिर से नेशनल टीम का दरवाजा खटखटा सकते थे. अगर ज़्यादा नहीं तो अगले साल भारत में होने वाले टी-20 विश्व कप को देखते हुए उन्हें टी-20 टीम में मौका मिल भी सकता था.

सुरेश रैना ने भारत के लिए 226 वनडे, 78 टी-20 और 18 टेस्ट खेले हैं. रैना ने वनडे में पांच शतक और 36 अर्धशतकों की बदौलत 5,615 रन बनाए हैं. रैना ने भारत के लिए आखिरी मुकाबला जुलाई 2018 में खेला था. रैना ने टेस्ट में एक शतक और सात अर्धशतकों की बदौलत 768 रन बनाए हैं. वहीं, टी-20 में एक शतक और पांच अर्धशतकों की बदौलत 1,604 रन बनाए हैं.