तेजस्वी यादव को मंत्री सुरेश शर्मा ने भेजा नोटिस, कहा-24 घंटे में मांगे माफ़ी नहीं तो करेंगे मुकदमा

लाइव सिटीज डेस्क : मुजफ्फरपुर बालिका गृह रेप मामले में अब सियासत काफी गरमा गई है. बिहार सरकार में समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के पति और नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा पर विपक्ष के आरोप के बाद से घमासान छिड़ा हुआ है. नेताप्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने मुजफ्फरपुर के विधायक और मंत्री सुरेश शर्मा पर इस कांड में शामिल होने का आरोप लगाया था. जिसके बाद अब तेजस्वी यादव की मुश्किलें बढ़ती दिखाई दे रही हैं. दरअसल, सुरेश शर्मा ने तेजस्वी यादव को लीगल नोटिस भेज दिया है. पटना हाई कोर्ट के अधिवक्ता अभय शंकर सिंह ने मंत्री की ओर से शनिवार को नोटिस भेजा है. यह नोटिस तेजस्वी के उस बयान पर है जिसमें उन्होंने मंत्री सुरेश शर्मा का नाम बालिका गृह रेप मामले से जोड़ दिया था.

इस नोटिस में कहा गया है कि मंत्री की छवि धूमिल करने की नीयत से दिए गए बयान का तेजस्वी यादव खंडन करें और सार्वजनिक रूप से माफी मांगें। अपनी गलत बयानी के लिए तेजस्वी अगर 24 घंटे के भीतर सार्वजनिक रूप से माफी नहीं मांगेंगे तो उनके खिलाफ सक्षम न्यायालय में मानहानि सहित दीवानी और फौजदारी मुकदमा दायर किया जाएगा.

बता दें कि तेजस्वी यादव ने मंत्री सुरेश शर्मा की संलिप्तता और मिलीभगत का आरोप लगाया था और कहा था कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह दुष्कर्म मामले में एक स्थानीय विधायक व मंत्री का भी नाम आ रहा है. ये वही हैं, जिन्होंने कुछ दिन पहले पश्चिम बंगाल में भी कारनामा किया था. उनके कारनामे से बिहार पूरे देश में शर्मसार हुआ था. मुजफ्फरपुर के मामले में मंत्री तत्काल इस्तीफा दें। उन्होंने कहा कि मंत्री अगर इस्तीफा नहीं देते हैं तो सीएम उन्हें बर्खास्त करें.

अपने ऊपर लगाए गए आरोपों के बाद नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा ने खुद पर लगे आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया था और कहा था कि तेजस्वी यादव राजनीतिक द्वेष व जातीय पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर मेरे खिलाफ स्तरहीन राजनीति कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि अगर मेरे खिलाफ जांच में कोई भी सबूत पाया जाएगा, तो मैं मंत्री पद से इस्तीफा दे दूंगा. मैं तेजस्वी को लीगल नोटिस भेजूंगा और उन्हें भी झूठा आरोप लगाने के चलते नेता प्रतिपक्ष पद छोड़ना होगा.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*