सुमो की चुनौती : तेजस्वी के इनकार के बाद क्या बर्खास्त करने की हिम्मत दिखाएंगे नीतीश

पटना : सोमवार को राजद की हुई बैठक में तेजस्वी यादव के इस्तीफा देने से इनकार करने के बाद एक बार फिर भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी ने सीएम नीतीश पर हमला बोला है. सुमो ने कहा कि अब नीतीश  कुमार के पास एक ही विकल्प बचा है कि वे तेजस्वी यादव को अपने मंत्रिमंडल से बर्खास्त करें. भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की बात कहने वाले नीतीश  कुमार का ही बयान है कि ‘मेरे कैबिनेट में कोई दागी नहीं रह सकता है. बिहार में मैं रहूंगा या भ्रष्टाचारी.’ नैतिकता के आधार पर गैसल रेल दुर्घटना और लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद इस्तीफा देने वाले नीतीश कुमार क्या तेजस्वी को बर्खास्त करने की हिम्मत दिखायेंगे?

सुमो ने कहा कि केन्द्रीय जांच एजेंसियों की कार्रवाई को महागठबंधन तोड़ने की साजिश  बताने वाले शरद यादव भूल रहे हैं कि 2008 में ललन सिंह के साथ तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को ज्ञापन देकर उन्होंने रेलवे के दो होटल के बदले डिलाइट कम्पनी को पटना में 3 एकड़ जमीन दिलवाने का आरोप में लालू प्रसाद के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी.

आज की बैठक में तेजस्वी यादव के कार्यों की प्रशंसा करने वाले राजद नेता क्या तेजस्वी की वाहवाही इसलिए भी करेंगे कि इतनी कम उम्र में वह 750 करोड़ के मॉल, दिल्ली में करोड़ों के बंगले और हजार करोड़ की बेनामी सम्पति के मालिक बन बैठे हैं. भ्रष्टाचार के मामले में सजायफ्ता लालू प्रसाद और उनकी पार्टी से तेजस्वी के इस्तीफे की अपेक्षा कैसे की जा सकती है जो अपराध के अनेक संगीन मामलों में सजायफ्ता होने के बावजूद शहाबुद्दीन जैसे दुर्दांत को अपनी पार्टी में बना कर रखा है.

यह भी पढ़ें-  राजद की बैठक में हो गया फैसला, तेजस्वी नहीं देंगे इस्तीफा