महागठबंधन के बदलाव पत्र को सुशील मोदी ने बताया फर्जी, कहा- जमीन हड़पने वाले किसान की बात कर रहे

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार चुनाव में अब बस कुछ दिन ही बाकी है, ऐसे में पक्ष और विपक्ष में आरोपों का दौर बदस्तूर जारी है. इसी कड़ी में बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने महागठबंधन के बदलाव संकल्प पत्र को फर्जी बताते हुए बड़ी बात कह दी है.

आपको बता दें कि महागठबंधन की तरफ से एक बदलाव पत्र जारी किया गया है. जिसपर बिहार की सियासत गरमा गयी है. मोदी ने कहा कि जो जमीन हड़पने वाले लोग हैं वह आज किसानों की बात कैसे कर रहे हैं. सीपीआई और माले का नारा था कि जमीन हड़पो और जमीन हड़पने का काम करते थे. आज किसानों की बात कर रहे हैं. लेकिन इनलोगों पर किसानों को भरोसा नहीं है.



सुशील मोदी ने आगे कहा कि अपराधियों को टिकट देने वाली आरजेडी पार्टी आज कानून व्यवस्था पर बात करती है. हम पूछना चाहते हैं कि रेपिस्ट को क्यों टिकट दिया ? 15 साल मौका मिला तो आपने क्या किया. पति-पत्नी के राज में क्या होता था वह तो सबको पता है.

उन्होंने कहा कि जो लोग पैसा लेकर नौकरी देते थे. अब बिहार के युवाओं को नौकरी देने की बात कर रहे हैं. जो नियोजित शिक्षकों को अयोग्य और उनके योग्यता पर सवाल उठाते थे और उनको मानदेय देने की बात करते हैं. बिहार को बर्बाद करने वाले अब जमीन पर चांद को उतारने की बात करते हैं. लेकिन वादे पर किसी को भरोसा नहीं है. यह सिर्फ बोलते रहे हैं 15 साल में बिहार को क्या दिया है.