सुमो का हमला : जब शिक्षा सचिव हटाये गए तो चेयरमैन को क्यों छोड़ दिया

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार इंटरमीडिएट के खराब नतीजे से जहां निराश छात्र-छात्राओं का प्रदर्शन जारी है वहीं इस पर सियासी बयानबाजी भी खूब हो रही है. बिहार में गिरती शिक्षा व्यवस्था पर बीजेपी ने सरकार को घेरा है.  भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने कहा कि खराब परीक्षाफल के लिए शिक्षा सचिव जितेंद्र श्रीवास्तव को दंडित कर तबादला किया गया तो बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर को क्यों छोड़ दिया ? 

बता दें कि नतीजे खराब आने के बाद बिहार के सीएम नीतीश कुमार खफा हो गए थे. उन्होंने शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी और बोर्ड के चेयरमैन आनंद किशोर को तलब किया था. फिर बैठक के बाद नीतीश कुमार का एक्शन शुरू हुआ. आनन-फानन में शिक्षा सचिव जितेंद्र श्रीवास्तव को हटा दिया गया. सुमो ने इसी पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि जब शिक्षा सचिव हटाये गए तो चेयरमैन को क्यों छोड़ दिया गया ?



सुमो ने आरोप लगाया कि इंटर में दो तिहाई छात्र इसलिए फेल हो गए क्योंकि कॉपियो की जांच में बड़े पैमाने पर धांधली हुई है. प्राइमरी स्कूल के शिक्षकों से इटंर की कॉपियों की जांच कार्रवाई गई. ओएमआर शीट और कंम्पयूराइज प्रक्रिया में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी और बारकोड के दुरुपयोग की भी शिकायत है. 

उन्होंने कहा कि यह बड़ा सवाल है कि फिजिक्स में जब 12 गलत सवालों के लिए बो्रड ने 12 अंक देना का निर्णय लिया था तो केसै हजारों छात्रों को मात्र तीन अंक कैसे आए? ऐसे में राज्य सरकार फेल सभी छात्रं की स्क्रूटिनी की बजा उनकी कॉपियों का पुनर्मूल्याकंन कराए. पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा कि नीतीश कुमार पूरे फर्जीवाड़े की जांच का आदेश दें और दोषियों पर सख्त कार्रवाई सुनिश्चित करें.

यह भी पढ़ें-  नीतीश का एक्शन शुरु, खराब रिजल्ट के बाद सेक्रेटरी की छुट्टी