सुमो ने अब तेज व तेजस्वी को पेट्रोल पंप मामले में लपेटा

sushil-modi_0
डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार में पॉलिटिकल वार जारी है. भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद व उनकी फैमिली के बीच चल रही जंग थमने के बजाय रोज नया मोड़ ले रही है. ताजा आरोप इस बार लालू प्रसाद के बेटों पर लगा है. और हमेशा की तरह यह आरोप सुशील मोदी ने लगाया है. 

सुशील मोदी  ने शुक्रवार को पीसी करते हुए लालू प्रसाद के बेटे तेज प्रताप और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव पर गंभीर आरोप लगाये हैं. आरोप बेनामी संपत्ति और गलत तरीको से आवंटित पेट्रोल पंप से सम्बंधित है.

दरअसल, मामला 6 साल पुराना है. तेज प्रताप यादव ने पेट्रोल पंप खोलने के लिए आवेदन दिया था. जिसके लिए NH-30 के पास जमीन भी मिलनी थी. लेकिन आवेदन तो तेजप्रताप ने दिया था. पर,जमीन तेजस्वी यादव को लीज पर मिली थी.  साल 2011 में NH 30 के पास 43 डिसमिल जमीन तेजस्वी यादव के नाम नहीं थी. इसके लिए AK इंफोसिस्टम ने 2012में तेजस्वी यादव को 130 डिसमिल जमीन लीज पर दी थी. साथ ही अमित कात्याल ने एके इंफोसिस्टम को 30 लाख रुपये का कर्ज दिया था. sushil-modi_0

सुशील मोदी ने आरोप लगाया कि अधिकारियों ने कागजात में हेरा-फेरी करके तेजप्रताप को पेट्रोल पंप आवंटित किया. उन्होंने कहा कि तेजप्रताप को गलत तरीके से पेट्रोल पंप आवंटित कर दिया गया.

बता दें कि लगातार हो रहे खुलासे में सर आरोपों का दौर चल रहा है. सुशील मोदी लगातार लालू प्रसाद एवं उनकी फैमिली पर बेनामी संपत्ति रखने का आरोप लगा रहे हैं. और इसको लेकर नीतीश कुमार से लेकर केंद्र सरकार तक सीबीआई जांच की गुहार लगा रहे हैं . वहीँ इसके उलट, लालू प्रसाद एवं उनके मंत्री बेटे सुशील मोदी को ही कटघरे में खड़ा कर रहे हैं.  सुमो के भाई आरके मोदी पर बेनामी संपत्ति रखने का आरोप लगा रहे हैं. मामला रोज नया मोड़ ले रहा है. लेकिन अभी तक न तो राज्य सरकार और न ही केंद्र सरकार इस मामले में हस्तक्षेप कर रही है.

यह भी पढ़ें- सुशील मोदी ने तेजस्वी से पूछे हैं 5 सवाल, पढ़िये