झारखंड के शिक्षा मंत्री के इंटर में दाखिले का सुशील मोदी ने की प्रशंसा, कहा- लालू प्रसाद के दोनों युवा पुत्रों को फिर से स्कूल-कालेज में दाखिला क्यों नहीं लेना चाहिए?

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क:  डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने लालू एंड परिवार पर कटाक्ष करते हुए ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा कि चारा घोटाला में सजायाफ्ता लालू प्रसाद जब झारखंड सरकार की मेहरबानी से कैदी के बजाय अघोषित राजकीय अतिथि बने हुए हैं, तब उन्हें रूई-सूई जैसी फूहड़, हास्यास्पद और तथ्यहीन तुकबंदी करने के बजाय राज्य के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो से प्रेरणा लेनी चाहिए.

जब 53 साल के मैट्रिक पास मंत्री लोकनिंदा का आदर करते हुए आगे की पढाई करने के लिए बेरमो के इंटर कालेज में दाखिला ले सकते हैं, तब लालू प्रसाद के दोनों युवा पुत्रों को फिर से स्कूल-कालेज में दाखिला क्यों नहीं लेना चाहिए?



सुशील कुमार मोदी ने शिक्षा मंत्री महतो को बधाई देते हुए कहा कि उन्होंने अपने आचरण से बड़ी शिक्षा दी और लोकतंत्र में लोकलाज को प्रतिष्ठित किया. ऐसे लोग समाज के लिए प्रेरणस्रोत्र होते है.

वहीं बिहार में कोरोना संक्रमण की कड़ी टूटने की बात करते हुए सुशील कुमार मोदी ने कहा कि बिहार सरकार की तत्परता से प्रतिदिन कोरोना जांच का दायरा बढ़ कर 83 हजार से ज्यादा हो गया है.

एक दिन में 2900 से ज्यादा मरीज कोरोना को हराने में सफल हो रहे हैं. लॉकडाउन के नियमों के पालन में सख्ती और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों तक जांच की सुविधा बढ़ने से संक्रमण की कड़ी टूटने लगी है.

नये मामले मिलने की दर 24%घटी. अब सब्जी वाले,रिक्शा-ठेला-टेम्पू चलाने वालों की भी कोरोना जांच करायी जाएगी. यदि राजद को नकारात्मक आंकड़ों में ही रुचि है और वह बिहार को बदनाम ही करना चाहता तो उसे लालू-राबड़ी काल के स्वास्थ्य सहित हर विभाग की परफॉर्मेंस पर श्वेत पत्र जारी करना चाहिए. जिनके शासन में रोजाना सिर्फ 39 लोग अस्पताल आते थे, वे किस मुँह से सवाल उठा रहे हैं?