किसान बिल का विरोध करने वालों पर सुशील मोदी का हमला, सड़क पर टैक्टर चलाकर नौटंकी करने वालों को जनता जानती है

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: आरजेडी द्वारा किसान बिल का विरोध करने पर डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने निशाना साधा है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि जिन लोगों की पहचान बाहुबली या बाहुबली को संरक्षण देने की रही, उन लोगों ने बिहार के किसानों का हमदर्द दिखने के लिए बिना पढ़े-समझे किसान बिल का विरोध शुरू कर दिया.

जो लोग विदेशी लक्जरी बीएमडब्ल्यू गाड़ी का शौक रखते हैं और चार्टर प्लेन में केक काट कर बर्थडे मनाते हैं, वे राजधानी की सड़क पर टैक्टर चलाकर किसान बनने की नौटंकी करने लगे.



किसी भी मुद्दे पर विपक्ष को विरोध करने का  लोकतांत्रिक अधिकार है, लेकिन हिंसा करने या किसी दल के कार्यालय पर लाठी-डंडे से हमला करने का किसी को हक नहीं.

किसान बिल के विरोध के बहाने विरोधियों ने अपना असली चरित्र दिखा दिया. चुनाव आयोग को इस पर संज्ञान लेना चाहिए. लाठी में तेल पिलाने वाले न गरीबों को रोजगार दे सकते हैं, न  कभी किसानों का भला कर सकते.

 राहुल गांधी को आज मनमोहन सिंह जैसी समझ वाले प्रधानमंत्री की कमी महसूस हो रही है. ये वही राहुल गांधी हैं,  जिन्होंने मनमोहन सिंह की कैबिनेट के फैसले की कापी सार्वजनिक रूप से फाड़ कर उस वक्त उनका अपमान किया था, जब वे विदेश यात्रा पर थे.

राहुल गांधी और कांग्रेस को दरअसल ऐसे पीएम की कमी महसूस हो रही है, जो रोबोट की तरह काम करे, आतंकियों के प्रति नरम रहे, मुम्बई हमले पर चुप रहे,  तीन तलाक प्रथा जारी रहने दे, चीन से कांग्रेस को चंदा दिलवाये और जम्मू-कश्मीर में धारा-370 बनाये रखकर रक्तरंजित अलगाववाद को पालता रहे. 

राहुल गांधी की इच्छा के विपरीत देश के 130 करोड़ लोग त्वरित, कड़े और बड़े फैसले लेने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ पूरी मजबूती से खड़ें हैं.बिहार ने 39 सांसद देकर पीएम मोदी के हाथ मजबूत किये,जबकि राहुल गांधी की पार्टी को सिर्फ एक सीट मिली.