जेडीयू और लोजपा में खीच गयी तलवार ! जेडीयू सांसद ललन सिंह ने चिराग पासवान को बताया कालीदास

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान लगातार नीतीश सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठा रहे हैं. खासकर बाढ़ और कोरोना को लेकर सरकार को कई दफा चिट्ठी भी लिख चुके है. कई दफा मीडिया के सामने भी आकर अपनी आपत्ति दर्ज करायी है. आज फिर उन्होंने ट्वीट कर कोरोना जांच में धीमी रफ्तार पर कटाक्ष किया तो जेडीयू ने उन्हें कालीदास की संज्ञा दे डाली.

कोरोना जांच को लेकर चिराग के बयान पर पलटवार करते हुए जदयू सांसद ललन सिंह ने  चिराग पासवान को कालिदास करार देते हुए कहा कि जिस डाल पर बैठते हैं उसी को काटते है. चिराग का कही पर निगाहें और कही पर निशाना है.



सांसद ललन सिंह ने कहा कि चिराग पासवान विपक्ष की निभा रहे है. लेकिन कहा जाता है कि  निंदक जितना नजदीक रहे उतना अच्छा होता है.  बिहार में कोरोना टेस्टिंग की संख्या आज 80 हजार तक पहुंच गया है. नीतीश कुमार काम करने में विश्वास रखते है. इस प्रकार के बयानबाजी में उनका विश्वास नहीं है.

बता दें कि प्रधानमंत्री के ट्वीट को टैग करते हुए चिराग पासवान ने कहा कि पूर्व से ही यह मांग लोक जनशक्ति पार्टी करती आयी है कि बिहार में कोरोना टेस्टिंग बढ़ाने की आवश्यकता है. अब प्रधानमंत्री जी के हस्तक्षेप कर सुझाव देने के बाद आशा ही नहीं बल्कि विश्वास है कि बिहार सरकार टेस्टिंग बढ़ाएगी ताकि बिहार को कोरोना से सुरक्षित किया जा सके.

कोरोना और बाढ़ को लेकर हीं नहीं बल्कि चिराग और केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान अभी बिहार में चुनाव कराने के मूड में नहीं है. इसको लेकर उन्होंने ने खुले तौर पर अपनी मंशा जाहिर कर दी है. चुनाव आयोग को लोजपा ने अपने मंतव्य से अवगत करा दिया है. जबकि जेडीयू और बीजेपी समय पर चुनाव कराने के मूड में है.

केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने बिहार विधानसभा चुनाव को वर्तमान हालात में नहीं कराने की वकालत करते हुए कहा कि बिहार में कोरोना और बाढ़ के कारण अभी चुनाव कराना सहीं नहीं है. पहले जनता को कोरोना और बाढ़ से बचाना जरूरी है.