बीजेपी MLA बोले- ताज महल का नाम राम महल या कृष्ण महल कर दिया जाए

लाइव सिटीज डेस्क : ताजमहल को लेकर इन दिनों लगातार विवाद चलता ही रहता है. एक बार फिर से ताजमहल के नाम को बदलने की बात की गई है. बैरिया से भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा है कि ताजमहल का नाम बदल कर राममहल या कृष्णमहल कर देना चाहिए. बता दें हाल के कुछ महीनों से लगातार ताजमहल पर विवाद चल रहा है. इससे पहले भी बीजेपी के एक नेता ने कहा था कि ताजमहल असल में तेजोमहालय है. पिछले साल वर्ल्ड टूरिज्म डे के मौके पर जब योगी सरकार ने राज्य के पर्यटन स्थलों की बुकलेट जारी की थी तब उस बुकलेट में ताजमहल को शुमार नहीं किया गया था. इसे लेकर काफी विवाद पैदा हो गया था. विवाद होने के बाद योगी सरकार ने एक बयान जारी कर कहा था कि 370 करोड़ रुपये की पर्यटन परियोजनाएं प्रस्तावित हैं जिसमें 156 करोड़ रुपए की परियोजनाएं आगरा और ताजमहल के आसपास के सौंदर्यीकरण के लिए है.

भाजपा के एक और विधायक संगीत सोम ने इस विवाद के बीच भारत की ऐतिहासिक धरोहर ताजमहल पर सवालिया निशाना उठाते हुए कहा था कि इतिहास दोबारा लिखा जाएगा और इसमें से मुगल बादशाहो का नाम हटा दिया जाएगा. इसके बाद उसी साल सीएम आदित्यनाथ जब एक दिन के दौरे पर आगरा पहुंचे तो ताजमहल के पश्चिमी गेट पर वो झाड़ू लगाते नजर आए। योगी ताजमहल के अंदर भी गए थे और शाहजहां-मुमताज की कब्रे भी देखी थी.

आपको बता दें कि ताजमहल को तेजोमहालय बताने के बाद अब भाजपा नेता विनय कटियार ने दिल्ली स्थित जामा मस्जिद को मंदिर बताया था. न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए विनय कटियार ने कहा था कि, ‘मुगल शहंशाहों ने करीब 6000 (धार्मिक) स्थलों को तुड़वा दिया. जामा मस्जिद का असली नाम जमुना देवी मंदिर था, जैसे ताजमहल का नाम तेजोमहालय था.’

देखें वीडियो : #लालूयादव की अनुपस्थिति में कटा 71 वें बर्थडे का केक, #रामचंद्रपूर्वे ने #तेजस्वी से पहले #तेजप्रताप को खिलाया केक, भावुक हुए #तेजस्वीयादव , बोले – पापा, स्वस्थ होते तो…

डेक्कन क्रॉनिकल के मुताबिक विनय कटियार ने कहा था कि मुगलों ने हिंदुओं के कई स्थलों को निशाना बनाया लेकिन उन्होंने केवल राम जन्मभूमि, काशी के बाबा विश्वनाथ और मथुरा स्थित कृष्ण जन्मभूमि की मांग की. कटियार ने कहा था , ‘अभी हम केवल इतना चाहते हैं कि राम जन्मभूमि पर राम का मंदिर बनाया जाना चाहिए.’

मोहब्बत की निशानी ताजमहल को मिस्र के मंदिर की तरह किया जा सकता है शिफ्ट! जानें कहां और क्यों?

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*