बीजेपी से विधानसभा अध्यक्ष बनाये जाने पर गुस्से से लाल हुए तेजप्रताप, कहा- फर्जीवाड़ा हुआ है

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा बनाये गए हैं. विजय सिन्हा बीजेपी के कोटे से भारी मतों से जीतकर स्पीकर बनाये गए हैं. लेकिन यह बात विपक्ष पचा नहीं पा रहा है. यही वजह है कि राजद खेमे से दोनों तेज ब्रदर्स आक्रामक नज़र आ रहे हैं.

पहले तेजस्वी यादव ने इसे जनादेश की चोरी बताई. और अब बड़े भाई तेजप्रताप यादव ने भी बड़ी बात कह दी है. उन्होंने कहा है कि इस बार परम्परा और संस्कृति के नाम पर लोकतंत्र को लूटा गया है. विधानसभा के अंदर विधानसभा के नियमावली को नकारते हुए खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने फर्जी वोटिंग किया और कराया.



वहीं तेजस्वी ने बिहार सरकार के तीन मंत्रियों के विधानसभा पहुंचने पर आपत्ति जताई और कहा था कि जो नियमावली कहता है उसके अनुसार जो विधानसभा के सदस्य होते हैं उन्हें ही सदन में शामिल होने की अनुमति होती है. जबकि तीनों मंत्री सदन की कार्यवाही में शामिल होने पहुंच गए. यह गलत है. फर्जी वोटर्स को सदन में बैठा दिया इन लोगों ने, और कई लोग तो एब्सेंट हैं. सदन नियम से चलेगा, ऐसे चलेगा. यह लोकतंत्र की हत्या है, संविधान की चोरी है. इन लोगों ने चोरी और बेईमानी की है.