लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: पिछले दिनों सीवान में एक हॉस्पिटल का शिलान्यास करने पहुंचे मंत्री मंगल पांडेय को एक पुलिस अधिकारी ने नहीं पहचाना. इसपर उन्होंने उस अधिकारी को सस्पेंड करने की बात कर दी. इस बात को लेकर तेजस्वी और तेजप्रताप यादव ने मंगल पांडेय पर निशाना साधा है.

उन्होंने कहा कि मंत्री अपने अधिकारों की डिंग मार रहे हैं. नहीं पहचाने वाले पुलिसकर्मी को सस्पेंड करने की धमकी दे रहे हैं. क्या किसी मंत्री को सार्वजनिक रूप से धमकी देना और उसे अपमानित करना ठीक है. पुलिसकर्मी के बजाए सत्ता के नशे में चूर मंत्री को सस्पेंड किया जाए.

दरअसल, गुरुवार को अस्पताल के शिलान्यास कार्यक्रम में राज्यपाल समेत स्वास्थ्य मंत्री सीवान पहुंचे थे. इस दौरान राज्यपाल की सुरक्षा में लगे एक पुलिस अधिकारी ने उन्हें नहीं पहचान पाने के कारण कार्यक्रम में जाने से रोक दिया. इस पर मंगल पांडे नाराज हो गए और उन्होंने एएसआई गणेश चौहान को निलंबित करने की धमकी दी.

राज्यपाल फागू चौहान की सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस हर किसी की तलाशी ले रही थी और वीआईपी के भी अंदर जाने पर बारीक नजर रख रही थी. इसी बीच यह घटना घाट गयी. इस कार्यक्रम में मंत्री प्रमोद कुमार भी उनके साथ थे.