महुआ में चाय-सत्तू के बाद अब साग-रोटी खाया तेजप्रताप ने, सुनी लोगों की समस्याएं

सत्तू, मक्के की रोटी, साग, तेजप्रताप, राजनीति, बिहार , 'टी विद तेजप्रताप', 'सत्तू विद तेजप्रताप' , 'मक्के की रोटी विद तेजप्रताप',tej pratap yadav

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्कः बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और आरजेडी नेता तेजप्रताप यादव ने पहले ‘टी विद तेजप्रताप’ और ‘सत्तू विद तेजप्रताप’ के बाद अब ‘मक्के की रोटी विद तेजप्रताप’ का प्रोग्राम किया है. तेजप्रताप ने शुक्रवार को अपने विधानसभा क्षेत्र महुआ में दिनभर भ्रमण किया. इस दौरान वह अपनी भूख मक्के की रोटी और साग खाकर मिटायी.

चाय-सत्तू के बाद अब साग-रोटी

अपने समर्थकों के साथ जनता के बीच तेजप्रताप ने मक्के की रोटी और साग खाते दिखे. तेजप्रताप ने अपने ट्वीटर पर एक वीडियो पोस्ट किया है जिसमें वह मक्के की रोटी और साग खाते दिख रहे हैं. तेजप्रताप ने वीडियो पोस्ट के साथ लिखा है, ‘अपने कर्मभूमि महुआ में दिनभर की परिभ्रमण के दौरान थोड़ी भुख लगी थी, मधौल स्थित महादलित टोला में मक्के की रोटी और साग पेट भर के खाया’.

तेजप्रताप यादव ने ट्विटर पर लिखा

तेजप्रताप यादव ने अपने महुआ के इस दौरे के बाद आने के बाद अपने ट्विटर पेज पर बातें शेयर की. इसके साथी उन्होंने लोगों के साथ बैठकर खाने की तस्वीरें भी साझा की हैं.

गौरतलब है कि तेजप्रताप कुछ समय से सियासत से दूर थे. लेकिन उनकी सियासत पर सवाल खड़े होने लगी तो उन्होंने फिर से अपने नए-नए कारनामों से सियासत शुरू कर दी. उन्होंने पहले अपने समर्थकों और जनता के साथ अपने विधानसभा क्षेत्र में चाय पर चर्चा की. जिसे उन्होंने ‘टी विद तेजप्रताप’ का नाम दिया.

वहीं, उन्होंने जनता के बीच खुले में स्नान किया और सभी के साथ सत्तू खाया. साथ ही रिक्सा चलाकर उन्होंने सबको चुनौती भी दी. अब उन्होंने एक बार फिर दलितो की बस्ती में जाकर मक्के की रोटी खाकर एक और राजनीतिक स्टंट किया है. इन सब कारनामों से साफ है कि तेजप्रताप अपनी राजनीति चमकाने के लिए कोई कसर नहीं छो़ड़ रहे हैं.

About Md. Saheb Ali 2873 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*