तेजप्रताप के गुस्से से महागठबंधन में हड़कंप, कादरी ने मसले को सुलझाने की दी सलाह

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : पूरे देश में लोकसभा चुनाव का महापर्व शुरू हो गया है. इस बीच बिहार महागठबंधन से एक बड़ी खबर निकलकर आ रही है. राजद नेता तेजप्रताप यादव के गुस्से से महागठबंधन में हड़कंप मचा हुआ है. तेजप्रताप इन दिनों सुर्खियों में हैं. उन्होंने अपने पार्टी पर रोज नया-नया बयान दे रहे हैं. जो कि पार्टी के लिए सिरदर्द बना हुआ है.

तेज प्रताप के गुस्से से महागठबंधन में हड़कंप मचा है. महागठबंधन में शामिल कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने कहा है कि तेज प्रताप के गुस्से का महागठबंधन पर असर पड़ेगा. वहीं, राजद के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे ने कहा है कि मामले को लेकर तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव से आज बात करेंगे.

जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने मंगलवार को कहा कि लोकसभा चुनाव में तेज प्रताप यादव के गुस्से का महागठबंधन पर पड़ेगा. मामले को लेकर राजद को तेज प्रताप यादव से बात करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि महागठबंधन के समीकरण को ध्यान में रखते हुए संतुलन भी बनाये रखना होगा.

उन्होंने कहा कि चुनाव लड़ने की सबकी इच्छा होती है. लेकिन, प्रत्याशियों की घोषणा के बाद इस तरह की घटना नहीं होनी चाहिए. बातचीत के माध्यम से मसले को जल्द सुलझाना चाहिए. यह सिर्फ कांग्रेस का ही नहीं, बल्कि महागठबंधन के सभी नेताओं की जिम्मेदारी है. संवाद में कमी आने से ऐसा हुआ है. यह दुखद है. इसके बावजूद संवाद खत्म नहीं करना चाहिए. जहां अभी प्रत्याशी तय नहीं हैं, वहां के लिए बात की जा सकती है.

वहीं, राजद के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे ने कहा कि मामले को लेकर वह आज तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव से बात करेंगे. वहीं, पार्टी के प्रवक्ता भाई वीरेंद्र ने कहा है कि जनता को सिर्फ तेजस्वी यादव, लालू प्रसाद यादव और राबड़ी देवी पसंद हैं. किसी और मोर्चे को जनता ने कभी पसंद नहीं किया है.

बेटिकट बागी बिगाड़ेंगे महागठबंधन का समीकरण?

महागठबंधन में शामिल राजद के तेज प्रताप यादव अकेले बागी नहीं हुए हैं. राजद के अली अशरफ फातमी, कांति सिंह, सीताराम यादव, रामजी मांझी, मंगनीलाल मंडल जैसे कई नेता बागी नेताओं की सूची में शामिल हैं. वहीं, महागठबंधन में शामिल कांग्रेस नेता निखिल कुमार को औरंगाबाद की सीट नहीं दिये जाने से नाराज हैं. जबकि, कौकब कादरी ने भी काराकाट के साथ-साथ दक्षिण बिहार में कांग्रेस को सीटें कम दिये जाने के बाद बगावती तेवर दिखा चुके हैं.

तेज प्रताप यादव ने दी है चेतावनी

राजद प्रमुख लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने मां राबड़ी देवी से सारण लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने का आग्रह करने के साथ चेतावनी दी है कि सारण की सीट हमारे परिवार की पुश्तैनी सीट है. अगर वहां से राबड़ी देवी चुनाव नहीं लड़ती हैं, तो वह निर्दलीय चुनावी मैदान में उतरेंगे. मालूम हो कि राजद ने सारण सीट से तेज प्रताप यादव के ससुर चंद्रिका राय को प्रत्याशी बनाया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*