रूठे भाई तेजप्रताप के जन्मदिन मनाने पहुंचे तेजस्वी यादव, साथ में काटा केक

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : आरजेडी नेता व लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव का आज 30वां जन्मदिन हैं. अपने आवास पर काफी करीबी के साथ तेजप्रताप जन्मदिन मना रहे हैं. इस बीच सब पुरानी बातों को भूलाकर तेजप्रताप यादव को छोटे भाई तेजस्वी यादव बधाई देने के लिए उनके आवास पर पहुंचे. दोनों भाई साथ में ही बर्थडे केके काटा. सोमवार की रात से ही तेजप्रताप यादव के परिवार, दोस्तों के साथ-साथ करीबियों ने बधाई दी. तेजप्रताप यादव ने सभी को धन्यवाद किया.

इस बीच बड़ी खबर निकलकर आ रही है कि उनके छोटे भाई तेजस्वी यादव ने कहा कि हमलोग के बीच कोई विवाद नहीं हैं, आज जन्मदिन का अवसर है. इस अवसर पर बड़े भाई को बधाई और आशीर्वाद देने आए है. क्योंकि मनोवादियों से लड़ना है. विचारधारा की लड़ाई में हमारे पिता को साजिश के तहत जेल भेजा गया है. इसलिए हमलोग सब मिल जुलकर संविधान बचाने की लड़ाई लड़ रहे है. तेजस्वी यादव ने तेजप्रताप की बीच मनमुटाव को सीधे तौर पर नकार दिया है. उन्होंने कहा कि हमलोग के बीच बातें होती रहती हैं.

आपको बता दें कि तेजप्रताप के तोहफे पर तेजस्वी यादव ने कहा कि यह टॉप सीक्रेट है. तेजस्वी ने कहा कि मेरे बड़े भाई है मेरे गार्जियन है लेकिन बॉस की सुनेंगे. शिवहर की सीट पर बोले कि आप धैर्य रखिए. मैने उनसे आगे की बात कह दिया है.

दरअसल, तेजप्रताप यादव के जन्मदिन पर बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने उन्हें बधाई दी. उन्होंने कहा कि आप स्वस्थ रहें और समाज के लिए अच्छे से काम करें. यहीं मेरी इच्छा है. हम उम्मीद करते हैं कि आपके जन्मदिन पर लालू परिवार आपकी मांग पूरा करेगा.

खबरों के मुताबिक, तेजप्रताप यादव के सरकारी आवास 2 स्टैंड रोड को एक दिन पहले ही बड़े धूमधाम के साथ सजाया गया है. घर के चारों ओर हरे रंग की लाइट लगाई गई है. बधाई देने वाले लोग एक दिन पहले ही तेजप्रताप यादव के घर जाकर बधाई दे रहे हैं. मंगलवार देर शाम से ही घर में लोगों की आवाजाही बढ़ गई थी.

वैसे हर साल तेजप्रताप यादव अपने जन्म दिन के मौके पर दलित बसियों में भी जाते हैं. और दलित बच्चों के साथ जन्म दिन मनाते रहे हैं. ऐसे में हो सकता है कल भी वो गरीब बच्चों के साथ भी मनाएं. बहरहाल जो भी हो. लेकिन ऐसा पहली बार है कि तेज प्रताप यादव अपनी फैमली के साथ नहीं होंगे.

बता दें कि तेज प्रताप यादव अपने फैमली में फिलहाल अलग-थलग हो गए हैं. उनकी बातों को आरजेडी में तरजीह नहीं दिया जा रहा है. उन्होंने शिवहर से अंगेश सिंह और जहानाबाद से चंद्र प्रकाश को आरजेडी का टिकट देने के लिए मांग की थी. पर ऐसा नहीं हुआ. सो तेजप्रताप की नाराजगी जग जाहिर है. ऐसे में बड़ा सवाल ये है कि क्या कल तेजप्रताप यादव अपने जन्मदिन के मौके पर मां राबड़ी देवी से आर्शीवाद लेने जाएंगे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*