‘चारा घोटाला दो मिनट में भाईचारा घोटाला बन जाता अगर लालू प्रसाद का DNA बदल जाता’

Bihar politics, Patna politics, Bihar top, RJD poster, Controversial poster, Tejaswi as ram, Nitish kumar as ravana, Congress comments, राजद, पोस्टर, विवाद, तेजस्वी, राम, नीतीश कुमार, रावण, कांग्रेस

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव एक बार फिर बीजेपी और जदयू पर जम कर बरसे हैं. मालूम हो कि लालू प्रसाद अभी होटवार जेल में बंद हैं. उन्हें चारा घोटाला में दोषी करार दिया गया है. इसके बाद से राजद के तेवर और भी कड़े हो गए हैं. तेजस्वी यादव लगातार बीजेपी और नीतीश सरकार पर तीखे हमले कर रहे हैं. उन्होंने आज कहा कि भाजपा और जदयू जनमानस की दृष्टि में क्रमशः धूर्तता और विश्वासघात के पर्याय बन चुके हैं.

तेजस्वी ने आगे कहा कि लालू प्रसाद के सिद्धांतों पर हर सूरत में चलने की हठ के सामने दूसरा कोई उदाहरण वर्तमान राजनीति में मिलना सम्भव नहीं. पूरा देश मान रहा है कि लालू प्रसाद ने भाजपा की धूर्तता के सामने पूरी दिलेरी से सच की राह पर हर कीमत पर अड़े हैं और रहेंगे.

तेजस्वी ने कहा कि तथाकथित चारा घोटाला दो मिनट में भाईचारा घोटाला में तब्दील हो जाता अगर लालू प्रसाद का DNA बदल जाता. अगर लालू जी BJP से हाथ मिला लेते तो वो हिंदुस्तान के आज के राजा हरीशचंद्र होते. हार्दिक पटेल के हाथों में लालटेन देख बोले तेजस्वी- भाई इसे जलाते रहना है

उन्होंने कहा कि भाजपा और जातिवादी संगठन आरएसएस और RSS के दूत नीतीश कुमार ने लालू जी को फँसाया ही नहीं अपितु उन्हें अपशब्द कह रहे है. तथाकथित भ्रष्टाचार तो बहाना है. इन लोगों ने कर्पूरी ठाकुर को भी जातिवादी गालियाँ दी थी. उनपर तो भ्रष्टाचार का आरोप भी नहीं था. न्यायालय की प्रक्रिया का हम सम्मान करते हैं और इसी प्रक्रिया में आगे चलकर लालू प्रसाद दोषमुक्त भी सिद्ध होंगे, इस बात का हमें पूर्ण विश्वास है. भाजपा झूठ, पाखंड,  ढोंग और भ्रमित प्रॉपगैंडा फैलाने वाली फ़ैक्टरी है. भाजपा के केंद्र में साढ़े तीन साल के कार्यकाल में झुठलाए वादों और बेवजह के मुद्दों को राष्ट्रीय विमर्श बनाने से यह स्पष्ट भी हो गया है.

सीएम नीतीश कुमार(फाइल फोटो)

इस अन्याय और बदले की राजनीति को देखकर जनता में भारी आक्रोश है. जनता चीख़-चीख़ कर कह भी रही है कि “जिसे हराया वो सरकार में है, जिसे जिताया वो कारागार में है.” नीतीश कुमार जी जान लें, व्यक्ति विशेष को रोका जा सकता है, उसके विचारों, मार्गदर्शन और दृढ़ संकल्प को नहीं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*