‘PM मोदी की नोटबंदी ने आतंकवाद की ऐसी कमर तोड़ी कि 30 दिन में 45 जवान शहीद हो गए’

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव एक बार फिर पीएम मोदी और नीतीश सरकार पर बरसे हैं. उन्होंने इस आतंकी हमले में शहीद हुए बिहार के जवानों की अनदेखी का आरोप नीतीश कुमार पर लगाया है. तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार में दो जांबाज सैनिक वीरगति को प्राप्त हुए. लेकिन नीतीश सरकार का एक भी मंत्री वीर जवानों को श्र्द्धांजलि देने और अंतिम संस्कार में सम्मिलित नहीं हुआ.

तेजस्वी यादव, एक्स डिप्टी सीएम

तेजस्वी यादव ने एक और ट्वीट किया. इसमें उन्होंने पीएम मोदी और संघ प्रमुख मोहन भावाग्त को आड़े हाथों लिया है. तेजस्वी लिखते हैं कि पीएम मोदी की नोटबंदी ने आतंकवाद की ऐसी कमर तोड़ी ऐसी तोड़ी कि विगत एक माह में हमारे 45 बहादुर सैनिक शहीद हो चुके है. ऊपर से मोहन भागवत का सेना ज्ञान. बता दें कि मोहन भागवत ने कहा था कि सेना को तैयार होने में 6-7 महीने लग जाते हैं लेकिन संघ के कार्यकर्ता सिर्फ ३ दिन में बॉर्डर पर लड़ने के लिए तैयार हो जाएंगे.

NITISH-KUMAR
बिहार CM नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

तेजस्वी यादव ने साफ़-साफ़ ट्वीट कर नीतीश कुमार को संघ के वकील नहीं बनने की सलाह भी दे डाली. तेजस्वी ने कहा कि यह राजनीतिक आरोप की नहीं शहीदों के सम्मान की बात है. बता दें कि तेजस्वी ने इससे पहले भी सीएम नीतीश कुमार पर इस मुद्दे को लेकर तंज कसा था. उन्होंने कहा था कि सीएम नीतीश कुमार जिस तरह से आरएसएस प्रमुख  की बातों का समर्थन कर रहे हैं. उससे वे संघयुक्त भारत के वकील लग रहे हैं. उनके संघमुक्त भारत के नारे का क्या हुआ ? थूक के पकौड़े न उतारें मोहन भागवत, अब संघयुक्त भारत के वकील हैं नीतीश कुमार

बता दें कि बीते दिनों आरा और खगड़िया के दो जवान 24 घंटे के भीतर शहीद हो गए थे. जिनका शव कल बिहार पहुंचा था. फिर पुलिस सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया. साथ ही पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाये गए. उनकी शहीदी पर नीतीश कुमार ने शोक व्यक्त किया था. लेकिन उनके परिजनों से मिलने कोई सरकार मंत्री नहीं पहुंचा था. जिस पर तेजस्वी बिफर पड़े.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*