‘जनादेश डकैती का पाप धोने को रच रहे हैं नए-नए प्रपंच, लेकिन अब ऊब गई है जनता’

तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज डेस्क : आज 21 जनवरी को एक बार फिर बिहार ने इतिहास रच दिया है. विशाल मानव श्रृंखला का आयोजन कर राज्य सरकार ने सामाजिक कुरीतियों पर हल्ला बोला. सीएम नीतीश कुमार ने बैलून उड़ाकर मानव श्रृंखला का आगाज किया. जदयू-भाजपा के कई नेता इसमें शामिल हुए. लेकिन राजद की ओर से कोई नहीं दिखा. राजद इस आयोजन में भले ही शामिल नहीं हुआ. लेकिन बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम  तेजस्वी यादव ने इस आयोजन पर हमेशा की तरह जरूर हमला बोला.
राजधानी पटना समेत बिहार के कोने-कोने से लोग मानव श्रृंखला बनाये तो सीएम नीतीश कुमार गदगद हो गए. उन्होंने जनता का धन्यवाद किया. और विपक्ष से किसी के शामिल नहीं होने पर इशारों-इशारों में निशाना भी साधा. उन्होंने कहा मानव श्रृंखला समाज सुधार के लिए है कोई पॉलिटिकल प्रोग्राम नहीं है. लोगों की स्वेच्छा है वो आये या नहीं. उनके इस बयान के बाद तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर सीएम नीतीश पर हमला बोला.

नीतीश कुमार

तेजस्वी ने सीएम नीतीश को नैतिक भ्रष्टाचार का पितामह बताया. उन्होंने कहा कि जनादेश की डकैती का पाप धोने के लिए वे लगातार नए-नए प्रपंच रच रहे हैं. तेजस्वी लिखते हैं- नैतिक भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह जनादेश डकैती का काला पाप धोने और अपनी विफलता छिपाने के लिए नित नए-नए प्रपंच कर रहे है। जनता उनके इन ढकोसलों से ऊब गई है. वो ग़रीबी, महँगाई, बिगड़ती क़ानून व्यवस्था और दलित उत्पीड़न के ख़िलाफ मुँह क्यों नहीं खोलते?

बता दें कि इस कार्यक्रम ने सीएम नीतीश ने बाल विवाह, दहेज़ प्रथा के खिलाफ अपने बातें रखी. सीएम नीतीश ने कहा कि-बाल विवाह गैर कानूनी चीज है. यह नुकसानदेह है. 2 अक्टूबर को हमने दहेजप्रथा और बाल विवाह के खिलाफ हल्ला बोल शुरू किया. यह कुरीति संपन्न लोगों से फैलते हुए आम लोगों के बीच पहुंच गई. लेकिन अब लोगों को जागरूक होना पड़ेगा. उन्होंने बिहार की जनता को धन्यवाद देते हुए कहा- कि हमें बहुत ख़ुशी है कि हर मजहब, समुदाय के लोग इस मानव श्रृंखला में शामिल हुए. उन्होंने कहा पिछले साल शराबबंदी पर हमने लोगों को एकजुट किया था. इस बार बाल विवाह और दहेज़ प्रथा के खिलाफ हमने हल्ला बोला है. उन्होंने कहा- कि गाँव -गाँव तक एक हेल्पलाइन नंबर भी जारी करेंगे. यह अभियान रुकेगा नहीं निरंतर चलता रहेगा. मानव श्रृंखला समाज सुधार के लिए है, कोई पॉलिटिकल प्रोग्राम नहीं 

About Ranjeet Jha 2861 Articles
I am Ranjeet Jha (पत्रकार)

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*