लालू के ऑडियो वायरल मामले पर तेजस्वी ने कहा-प्रलोभन क्या होता है किसी से छिपी हैं क्या?

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क : लालू यादव के ऑडियो वायरल मामले पर सफाई देते हुए तेजस्वी ने कहा कि पूरा मामला जांच का विषय है. किसकी आवाज है, किसकी नहीं. यह सब जांच का विषय है. प्रलोभन कैसे दिया जाता है यह हम सभी ने मध्यप्रदेश, कर्नाटक और राजस्थान में सरकार बनाने के दौरान खूब देखा है.

20-20, 40-40 करोड़ का प्रलोभन दिया जाता है. ऑडियो वायरल सही है, नकली है यह सब जांच का विषय है. उन्होंने कहा कि मेवालाल चौधरी का इस्तीफा लिया जाता है. लेकिन मंत्री अशोक चौधरी से इस्तीफा नहीं लिया जाता है. बड़े आश्चर्य की बात है. सृजन घोटाला मामले में तत्कालीन डिप्टी सीएम सुशील मोदी जी से क्यों पूछताछ तक भी नहीं हुई. उनके बहन के खाते में घोटाले का पैसा गया, इसका सबूत तक हम लोगों ने पेश कर दिया है.



बता दें कि रांची के केली बंगले से लालू यादव ने बीजेपी विधायक ललन पासवान को फोन कर स्पीकर चुनाव से अब्सेंट करने की बात कही थी. जिसका ऑडियो वायरल होने के बाद बीजेपी, जेडीयू हमलावर हो गया. एनडीए के घटक दलों ने लालू यादव को रांची से दिल्ली के तिहाड़ जेल में शिफ्ट करने की मांग कर दी.

इतना ही नहीं कथित ऑडियो वायरल मामले में लालू यादव के खिलाफ झारखंड हाईकोर्ट में पीआईएल दायर हो गया है. साथ ही पटना के विजिलेंस थाने में विधायक ललन पासवान की ओर से केस तक दर्ज करा दी गयी है.

आज ही सदन में ललन पासवान ने खुद और अपने परिवार की जान की सुरक्षा के लिए सुरक्षा बढ़ाने की मांग की है. ललन पासवान ने अध्यक्ष से कहा कि लालू यादव पर केस करने के बाद उनकी जान को खतरा है. जिन लोगों के खिलाफ केस किया गया है वो लोग काफी शक्तिशाली हैं. वो कुछ भी कर सकते हैं.